नई दिल्ली विश्व पुस्तक मेला में शारजाह "गेस्ट ऑफ ऑनर" के रूप में

नई दिल्ली, 2 9 नवंबर, 2018 (डब्ल्यूएएम) -- नई दिल्ली विश्व पुस्तक मेला में शारजाह को "गेस्ट ऑफ ऑनर" के रूप में सम्मानित करने के लिए तैयारी तेज कर दी गई है। इस मेला का आयोजन अगले वर्ष 5 से 13 जनवरी तक होगा। नेशनल बुक ट्रस्ट ऑफ इंडिया, पुस्तक मेला के आयोजकों ने भारत के उपराष्ट्रपति एम। वेंकैया नायडू को अगले वर्ष की प्रदर्शनी में शारजाह पैवेलियन की ओपेनिंग के लिए आमंत्रित किया है। आयोजकों के अनुसार, संयुक्त अरब अमीरात के लगभग 30 प्रकाशकों और लेखकों ने नई दिल्ली के इवेन्ट में भाग लेने की इच्छा व्यक्त की है। नेशनल बुक ट्रस्ट ऑफ इंडिया मानव संसाधन विकास मंत्रालय के तहत भारत सरकार का एक स्वायत्त संगठन है। भारत सरकार के णिज्य मंत्रालय के तहत नोडल एजेंसी भारत व्यापार संवर्धन संगठन या आईटीपीओ, दिल्ली बुक फेयर का सह आयोजक है। प्रदर्शनी के मामले में संयुक्त अरब अमीरात के साथ सहयोग का आईटीपीओ का लंबा इतिहास रहा है। भारतीय विदेश मंत्रालय के सूत्रों ने कहा है कि वे जनवरी के इवेन्ट में देश की भागीदारी के लिए संयुक्त अरब अमीरात के साथ समन्वय कर रहे हैं, क्योंकि शारजाह के उच्च स्तर के प्रतिनिधित्व से अमीरात पैवेलियन में आएंगे। शारजाह की सांस्कृतिक गतिविधियों में भारत में भारत के प्रति झुकाव पिछले साल यूनेस्को द्वारा अमीरात को "वर्ल्ड बुक कैपिटल फॉर द ईयर 2019" के रूप में नामित करने के बाद किया गया था। यूनेस्को के सम्मान में भारत में रुचि विशेष रूप से इसलिए है क्योंकि यह पुरस्कार में भारतीयों जैसे प्रवासित आबादी को शामिल करता है। यूनेस्को ने उस समय कहा, "शारजाह का चयन" (इसकी) बहुत ही अभिनव, व्यापक और समावेशी प्रकृति की वजह से हुआ, जिसमें एक समुदाय केंद्रित कार्यक्रम था, जिसमें बहुत बड़ी प्रवासी आबादी को शामिल करने के लिए रचनात्मक प्रस्ताव शामिल था।" संयुक्त राष्ट्र निकाय ने नारे की भी प्रशंसा की: "पढ़ें - आप शारजाह में हैं।"

भारत में शारजाह के लिए पुरस्कार और आगामी पुस्तक मेले में अमीरात के सम्मान के स्थान पर विशेष अनुनाद है, क्योंकि 2003 में नई दिल्ली को यूनेस्को वर्ल्ड बुक कैपिटल के रूप में भी चुना गया था। अनुवादः एस कुमार

http://wam.ae/en/details/1395302724270

WAM/Hindi