इनर्जी ट्रांसफॉर्मेशन पर अबू धाबी में IRENA असेम्बली में 125 मंत्री जुटे 

अबू धाबी, 10 जनवरी, 2019 (डब्ल्यूएएम) -- अंतर्राष्ट्रीय अक्षय ऊर्जा एजेंसी, IRENA की नौवीं असेम्बली कल अबू धाबी में शुरू होने वाली है।। इसमें राज्य और सरकारों के प्रमुखों के अलावा 120 से अधिक मंत्रियों और प्रतिनिधियों की भागीदारी होगी। सतत विकास लक्ष्यों और वैश्विक जलवायु उद्देश्यों के समर्थन में अक्षय ऊर्जा में तेजी लाने पर होने वाले उच्च स्तरीय चर्चा में 160 देश भाग ले रहे हैं। तीन दिवसीय कार्यक्रम में सबसे बड़ी संख्या मंत्री स्तर के प्रतिभागियों की होगी, जिन्होंने IRENA असेम्बली के लिए पंजीकरण करा रखा है। इसमें नीति निर्माता अंतरराष्ट्रीय संगठनों, निजी क्षेत्र और नागरिक समाज के उच्च-स्तरीय प्रतिनिधियों से मिलेंगे। असेंबली अक्षय ऊर्जा की गिरती लागत की पृष्ठभूमि में रही है, जो जलवायु परिवर्तन के बुरे प्रभावों से बचने के लिए अधिक से अधिक कार्रवाई का आह्वान करती है। अक्टूबर में, जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र के अंतर सरकारी पैनल (IPCC) की रिपोर्ट में कहा गया है कि दुनिया में जलवायु के मसले पर निर्णायक कार्रवाई करने के लिए सिर्फ 12 साल बचे हैं। साथ ही अक्षय ऊर्जा पर आधारित तीव्र और दूरगामी इनर्जी ट्रांसफॉर्मेशन का आह्वान किया गया है। IRENA विश्लेषण के अनुसार, पेरिस समझौते के लक्ष्यों को पूरा करने के लिए कार्रवाई तेज करना चाहिए। इस वर्ष, असेम्बली की अध्यक्षता चीन के नेशनल इनर्जी एडमिनिस्ट्रेशन के उपाध्यक्ष ली फैनरोंग करेंगे। इस अवसर पर बात करते हुए, IRENA के महानिदेशक, अदनान जेड अमीन ने कहा, "अक्षय ऊर्जा औद्योगिक और विकासशील अर्थव्यवस्थाओं के लिए समान आर्थिक और सामाजिक अवसर प्रदान करती है। IRENA की सार्वभौमिक सदस्यता एक संकेत है कि अक्षय ऊर्जा वास्तव में एक वैश्विक उपक्रम है और दुनिया भर के देशों की एक प्रमुख नीति प्राथमिकता है।"

श्री अमीन ने कहा, "पूरी दुनिया के नीति निर्धारकों को साथ लाकर, IRENA असेम्बली ऊर्जा परिवर्तन पर अंतर्राष्ट्रीय सहयोग को मजबूत करने के लिए वास्तव में एक अनूठा मंच प्रदान करती है।"

श्री ली फैनॉन्ग ने कहा ने कहा, "IRENA की नौवीं असेम्बली का अध्यक्ष होना एक सम्मान है।" उन्होंने कहा, "चीन ने अक्षय ऊर्जा को हमारे आर्थिक और पर्यावरणीय लक्ष्यों दोनों की सेवा करने के लिए एक महत्वपूर्ण रणनीतिक प्राथमिकता दी है, लेकिन यह महत्वपूर्ण वैश्विक उद्देश्यों में चीन के योगदान को मजबूत देगा।"

ली न कहा कि "यह वैश्विक समुदाय को साथ लाने का एक महत्वपूर्ण अवसर है और वह इसका प्रतिनिधित्व करने के लिए असेम्बली में आए हैं।" उन्होंने कहा, "अगले कुछ दिनों में हमारे विचार-विमर्श में कोई संदेह नहीं होगा कि हर देश अक्षय ऊर्जा की को प्रोत्साहित करने के लिए आवश्यक अंतर्दृष्टि और मार्गदर्शन के साथ काम करेगा।"

असेम्बली अक्षय ऊर्जा से संबंधित महत्वपूर्ण मुद्दों पर कई महत्वपूर्ण चर्चा करेगी। साथ ही, असेम्बली की कई चर्चाओं में IRENA के सदस्य प्रतिनिधिमंडल, हितधारक समूहों और निजी क्षेत्र को अपने योगदान का अवसर मिलेगा। अनुवादः एस कुमार.

http://wam.ae/en/details/1395302731548

WAM/Hindi