• 2
  • 1 /Medium/
  • 3

ऊर्जा विभाग व चीन में बढ़ रहा है सहयोग

बीजिंग, 7 मार्च, 2019 (डब्ल्यूएएम) - ऊर्जा विभाग (डीओई) के एक उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल ने हाल ही में सहयोग, ज्ञान हस्तांतरण व विशेषज्ञता आदान-प्रदान की संभावना तलाशने चीन का दौरा किया। दाैरे में डीईओ अध्यक्ष ओवेदा मुर्शीद अल मारार के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल ने चीन के राष्ट्रीय ऊर्जा प्रशासन निदेशक झांग जियानहुआ से मुलाकात की। मुलाकात के मकसद दोनों पक्षों के बीच उच्चस्तरीय संबंधों काे बढ़ावा देना था। चीन में यूएई के राजदूत अली ओबैद अल धाहरी ने भी अल मारार के नेतृत्व में चीनी अक्षय ऊर्जा कंपनियों के प्रमुखों के साथ बैठक की और चीन के ऊर्जा विकास केद्राें का दाैरा किया। आर्थिक क्षेत्रों काे लाभ पहुंचाने के ख्याल से ऊर्जा संसाधन नियोजित करने काे लेकर चीनी दृष्टिकोण का अनुभव लेने वे लाेग कई प्रमुख औद्योगिक इकाईयाें में भी गए। अल मारार ने कहा कि चीन यात्रा भविष्य में ऊर्जा क्षेत्र की अग्रणी वैश्विक मॉडलों के साथ-साथ दुनिया के देशों से रणनीतिक साझेदारी पूरा करने में हमारे उत्सुकता के दायरे में आती है। उन्होंने कहा कि चीन सर्वश्रेष्ठ ऊर्जा प्रबंधन तकनीकों, स्थिरता आधारित सुरक्षा काे लेकर वैकल्पिक स्रोत का निर्माण और सभी परिवर्तनकारी ड्राइव को सुरक्षित रखने में वैश्विक मॉडल है। इस देश ने ऊर्जा दक्षता को बढ़ावा देने और नवीकरण विशेष रूप से सौर ऊर्जा के क्षेत्र में दुनिया का सबसे बड़ा निवेशक बनने के लिए रिकॉर्ड समय में काम किया है। उन्होंने कहा कि चीनी मॉडल का अबू धाबी के साथ कुशल ऊर्जा प्रबंधन का समाधान खोजने में गठबंधन हुआ है। तेल क्षेत्र में अबू धाबी विजन 2030 के हिस्से के रूप में तेल के बाद नवीनीकरण और ऊर्जा संसाधनों के अधिकतम उपयोग पर भरोसा करना पड़ेगा। ऊर्जा क्षेत्र में प्रतिमान बदलाव और स्थिरता आधारित आर्थिक विकास हासिल करने का लक्ष्य रखना पड़ेगा। दाैरे के दाैरान प्रतिनिधिमंडल ने बीजिंग, शंघाई और शांक्सी प्रांत में कई चीनी ऊर्जा कंपनियों के प्रमुख अधिकारियों की मौजूदगी में कार्यशालाओं में भाग लिया। अनुवादः वैद्यनाथ झा http://wam.ae/en/details/1395302745447

WAM/Hindi