यूएई में 2019 के दाैरान 20% निवेश बढ़ने की उम्मीद 

दुबई, 5 अप्रैल, 2019 (डब्ल्यूएएम) - 2018 में पारित कानून से यूएई सरकार का नया प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के प्रवाह में आठ प्रतिशत औसत विकास दर से इस वर्ष 20 प्रतिशत तक बढ़ाेतरी हाे सकती है। यह अनुमान हाल ही में वित्त मंत्रालय ने लगाया है। देश में पहले से व्याप्त बिजनेस फ्रेंडली माहाैल काे आगे और मजबूती देने के लिए इस युगांतरकारी बिल की कल्पना की गई थी। 8 से 10 अप्रैल 2019 को दुबई में होने वाली वार्षिक निवेश बैठक 2019 में आगामी वैश्विक एफडीआई चर्चा में यह कानून प्रमुख स्थान लेने जा रहा है। देश के उच् -स्तरीय प्रतिनिधियों से यह अपेक्षा की जाती है कि वे अरब क्षेत्र में पसंदीदा एफडीआई गंतव्य बनाने वाले अन्य कारकों के साथ वैश्विक प्रतिनिधियाें के समक्ष कानून के प्रमुख प्रावधान प्रस्तुत करें। वार्षिक निवेश आयोजन समिति के सीईओ दाऊद अल शेज़ावी ने कहा किअंतर्राष्ट्रीय निवेश आकर्षित करना किसी भी देश के सतत विकास के लिए तथा यूएई के मामले में इसकी विविधतापूर्ण रणनीति काे देखते हुए जरूरी है। उच्च एफडीआई के परिणामस्वरूप रोजगार के अवसर ज्यादा बढ़ेंगे और अंतर्राष्ट्रीय संबंध मजबूत होंगे, जिससे यूएई विज़न 2021 और यूएन सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स 2030 अर्थात् दोनों उद्देश्यों की जल्दी प्राप्ति होगी। इस कानून के तहत वित्त मंत्रालय के अंतर्गत शक्तिशाली एफडीआई इकाई स्थापित की जाएगी। यह एफडीआई नीतियां प्रस्तावित, प्राथमिकताओं की पहचान, प्रासंगिक कार्यक्रम काे तैयार और मंत्रिमंडल द्वारा अनुमोदित प्रस्तावों के कार्यान्वयन का नेतृत्व करेगा। यह यूएई में निवेश के लिए व्यापक डेटाबेस की स्थापना के साथ-साथ कुछ नाम से एफडीआई परियोजनाओं के पंजीकरण और लाइसेंसिंग में भी सहायता देगा। अल शेजावी ने कहा कि जैसा कि देश तेल के बाद के लिए भविष्य तैयार करता है तथा ज्ञान व नवाचार संचालित अर्थव्यवस्था में संक्रमण जारी रखता है, एफडीआई कानून प्रभावशाली कारक होने जा रहा है जो 21 वीं सदी में यूएई के सामाजिक-आर्थिक विकास को गति देगा। यूएई के विकास काे लेकर दृष्टिकोण उत्साहित है। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष ने अनुमान लगाया है कि देश का वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) 2018 के 2.9 प्रतिशत तुलना में इस वर्ष 3.7 प्रतिशत वृद्धि हाेगा। गैर-तेल जीडीपी में भी सेन्ट्रल बैंक यूएई ने 2018 के 2.6 प्रतिशत की तुलना में 3.4 प्रतिशत वृद्धि का अनुमान व्यक्त किया है। निष्कर्ष के ताैर पर उन्हाेंने कहा कि इस साल के एआईएम में हम अगली पीढ़ी की प्रौद्योगिकियों जैसे रोबोटिक्स, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और ब्लॉकचेन का वैश्विक व्यापार और निवेश पर पड़ने वाले प्रभाव का गहराई से चर्चा करेंगे। इस प्रकार इवेंट का विषय मैपिंग द फ्यूचर ऑफ एफडीआई, इनरिचिंग वर्ल्ड इकाेनाेमीज थ्रू डिजिटल ट्रांसफाेरमेशन डिजिटल विस्फोट के बीच नए तरीके अपनाने की दिशा में हमारे संवादों को निर्देशित करने में मदद करेगा। नए एफडीआई कानून का प्रवर्तन ऐसे समय में हुआ है जब विघटनकारी तकनीकों को बाएं और दाएं लागू किया जा रहा है। अनुवादः वैद्यनाथ झा http://wam.ae/en/details/1395302753362

WAM/Hindi