फराज फंड से रमजान के दौरान 100 कैदियों काे दी जाएगी सहायता 


अबू धाबी,14 अप्रैल, 2019 (डब्ल्यूएएम) - यूएई ने समाज समुदाय, बिरादरी और जरूरतमंद व्यक्तियों की देखभाल के मूल्यों को जारी रखा है। सामूहिक विश्वास, मूल्यों और विरासत से प्रेरित होकर यूएई स्थित फंड से रमजान के पवित्र महीने के दौरान 100 कैदियों काे सहायता देने की घाेषणा की गई है। फराज फंड का केंद्रीया मिशन कैदियों व उनके परिवारों को ऋण राहत, पारिवारिक सहायता और हवाई मार्ग टिकट अभियान के माध्यम सहायता देना है, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि समाज के इस तबके को दूसरा मौका मिला है। बोर्ड के फंड अध्यक्ष नासिर एल खरेबनी अल नूआमी ने अमीरात न्यूज एजेंसी डब्ल्यूएएम को बताया कि 2009 में फराज फंड की शुरूआत के बाद 50 से अधिक राष्ट्रीयताओं के दंडात्मक और सुधारात्मक संस्थानों में 11,154 कैदियों की मदद की गई है। अल नूआमी ने सहिष्णुता वर्ष के दौरान फंड की सहायता से चलाए जाने वाले कुछ अभियानों को साझा किया, जिसका पालन रमजान के पवित्र महीने के दौरान इसका किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस साल यूएई के 48 वें राष्ट्रीय दिवस समारोह के दौरान इस फंड से 48 कैदियों की सहायता की जाएगी। 100 कैदियों के ऋण का भुगतान किया जाएगा। अध्यक्ष ने डब्ल्यूएएम को बताया कि फराज फंड में किसी तरह का भेदभाव नहीं बरता जाता। राष्ट्रीयता, नस्ल, लिंग, विश्वास, आर्थिक स्थिति की परवाह किए बिना व्यक्तियों की सहायता की जाती है। दिवंगत शेख जायेद बिन सुल्तान अल नाहयान का ऐसा ही दृष्टिकोण था। उन्होंने बताया कि यूएई समाज में इसकी जड़े काफी गहरी है। यूएई नेतृत्व ने इसे आगे बढ़ाया है, जो न्याय, समानता और सम्मान के मूल्य समुदाय के प्रत्येक सदस्य में सुनिश्चित करता है। अल नूआमी ने बताया कि इस फंड से यूएई के कॉरपोरेशन और संस्थानों के साथ मिलकर कॉर्पोरेट साेशल रिस्पॉन्सबिलिटी की पहल भी की जाती है। इससे फंड स्थापना का मिशन पूरा हाेने के साथ ही संगठनों के भीतर जागरूकती बढ़ती है तथा स्वयंसेवीवाद और धर्मार्थ कार्य काे प्रोत्साहन मिलता है। उन्हाेंने यह भी बताया कि फंड से अक्सर मुश्किल आर्थिक परिस्थितियों का सामना करने वाले असंगठित परिवारों काे सहायता दी जाती है। ऐसा इसलिए कि वाे परिवार जेल में बंद अपने प्रियजनों के वित्तीय समर्थन पर पहले निर्भर थे। वर्ष 2018 तक फराज फंड से 1,800 लाेगाें काे वित्तीय सहायता दी गई है, जिससे वाे लाेग आर्थिक तंगी दूर कर अपने जीवन का निर्माण जारी रख सकें। अल नूआमी ने फंड के बारे में बताया कि जेल में बंद हाेने से जिनकी वित्तीय स्थिती लड़खड़ा चुकी है वैसे लाेगाें काे सहायता देने के मामले में यह फंड केंद्रित है। हम उन कैदियों काे सहायता देकर वित्तीय बोझ हल्का करने का काम करते हैं, बकाया ऋण खत्म करने के लिए धन जुटाते हैं, क्याेंकि वाे लाेग जेल में रहने के कारण बसने में असमर्थ हाेते हैं। अनुवादः वैद्यनाथ झा http://wam.ae/en/details/1395302755208

WAM/Hindi