अबू धाबी वर्ल्ड यूथ जिउ-जित्सु चैंपियनशिप में यूएई की लड़कियां बुलंदी पर  


अबू धाबी, 21 अप्रैल, 2019 (डब्ल्यूएएम) - यूएई व इसके बाहर वयस्क महिलाओं के हाथाें में जिउ-जित्सु का भविष्य सुरक्षित है। ऐसा अबू धाबी वर्ल्ड यूथ जिउ-जित्सु चैंपियनशिप में राेमांचक दिन काे देखकर लग रहा है। अबू धाबी वर्ल्ड प्रोफेशनल जिउ-जित्सु चैम्पियनशिप 2019 (एडीडब्ल्यूपीजेजेसी) स्थानीय और अंतर्राष्ट्रीय युवाओं के लिए समर्पित प्रतियोगिता है। अबू धाबी के क्राउन प्रिंस व यूएई सशस्त्र बलों के उप सुप्रीम कमांडर महामहिम शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान के तहत एडीडब्ल्यूपीजेजेसी 2019 के दूसरे दिन की प्रतियाेगिता में 10 से 17 आयु वर्ग की सैकड़ों लड़कियों काे वजन और बेल्ट श्रेणी में जिउ-जित्सु के वैश्विक घर अबू धाबी स्थित मुबाडाला मैदान में देखा गया। यूएई ने 54,320 अंक हासिल कर लड़कियों की प्रतियोगिता जीती, जिसमें 17 स्वर्ण, 29 रजत और 59 कांस्य पदक शामिल हैं। यूक्रेन की युवा महिलाओं ने बाईस जीत हासिल कर 2,160 अंक बटाेरे तथा अपने देश के लिए दो स्वर्ण, दो रजत और एक कांस्य पदक सुनिश्चित कर दूसरे स्थान पर रही। ऑस्ट्रेलिया काे 15 जीत मिले तथा एक स्वर्ण, दो रजत और तीन कांस्य पदक हासिल किया। ऑस्ट्रेलिया 2,080 अंक बटाेरकर तीसरे स्थान पर रहा। यूएई की प्रभावशाली लड़कियों को फ़ुजैरा के क्राउन प्रिंस महामहिम शेख मोहम्मद बिन हमद बिन मोहम्मद अल शर्की ने प्राेत्साहित किया। महामहिम काे जिउ-जित्सु फेडरेशन के अध्यक्ष अब्दुलमुनम अल हाशिमी ने आमंत्रित किया था। अल हाशिमी जिउ-जित्सु एशियाई संघ के अध्यक्ष और जिउ-जित्सु अंतर्राष्ट्रीय महासंघ के उपाध्यक्ष भी हैं। महामहिम ने कहा कि चैंपियनशिप में हर साल कैसे सुधार हो रहा है और साल-दर-साल कैसे संख्या बढ़ती जा रही है। महामहिम ने कहा कि हमने जो प्रगति की है उसे देखते हुए सुंदर लग रहा है। अल हाशिमी ने कहा कि यह हमारे लिए दबाव है लेकिन फेडरेशन की पूरी टीम और मेरे लिए काफी प्रेरणादायक है। यूएई की लड़कियों की उपलब्धियाें पर गर्व करने वाले विशिष्ट लाेगाें में शिक्षा मंत्री हुसैन बिन इब्राहिम अल हम्मादी, राष्ट्रपति प्रोटोकॉल के प्रमुख, राष्ट्रपति मामले के मंत्रालय मोहम्मद अब्दुल्ला अल जुनैदी, अबू धाबी सरकार के मीडिया कार्यालय महानिदेशक मरियम ईद अल मुहारी और अबू धाबी मीडिया कंपनी के महानिदेशक डॉ. अली बिन तमीम शामिल थे। महामहिम शेख मोहम्मद बिन हमद बिन मोहम्मद अल शर्की ने भी कई विजेताओं को पदक प्रदान किए। उन विजेताओं में एक नौफ खमीस अल बालोशी थे, जिन्होंने किशाेराें के 63 किग्रा वर्ग में ऑरेंज ग्रीन बेल्ट प्रतियाेगिता में स्वर्ण जीता। अल बालोशी ने कहा कि स्वर्ण पदक जीतना अब तक का मेरा सपना था। इसे पाकर मैं गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं। मुझे महामहिम शेख मोहम्मद बिन हमद बिन मोहम्मद अल शर्की ने पदक भेंट किया है। मुझे लगता है कि यह पूरे यूएई का सम्मान है। अल बालोशी पदक यूएई की युवा महिला द्वारा जिउ-जित्सु मूल्यों को प्रदर्शित करने वाले शक्तिशाली प्रदर्शनाें सहिष्णुता, अनुशासन, सम्मान और दृढ़ संकल्प में से एक है। बालिका वर्ग में शक्ति प्रदर्शित करने वाली अल समहा स्कूल की 12 साल की शेखा अल तमीमी थीं, जिन्होंने जूनियर 75 किलोग्राम वर्ग में येलो बेल्ट प्रतियाेगिता में स्वर्ण पदक हासिल की। अल तमीमी ने कहा कि पहला स्थान हासिल कर और स्वर्ण पदक जीत कर मुझे लगा कि मैं एक बड़े पहाड़ पर चढ़ रही थी। मैं आज शीर्ष पर पहुंच चुकी हूं, जाे मेरी महत्वाकांक्षाओं में से एक थी। मुझे जीत की उम्मीद नहीं थी लेकिन स्वर्ण पदक हासिल कर बहुत खुश हूं। मुझे लगता है कि मेरा परिवार भी मुझ पर गर्व करेगा। 13 साल के एक अमीराती युवा मद अलकल्बानी पहला स्थान तथा स्वर्ण पदक जीतकर काफी खुश हैं। उन्हाेंने अबू धाबी अल वाहदा क्लब - जिउ-जित्सु अकादमी का प्रतिनिधित्व किया। उन्हाेंने कहा कि मुझे जीतने की उम्मीद नहीं थी, लेकिन खुद काे इस इस चैंपियनशिप के लिए तैयार किया, दिन में दाे बार प्रशिक्षण लिया। मुझे जिउ-जित्सु बहुत पसंद हैं, यह हमें दृढ़ता और सम्मान सिखाता है। मैं लड़कियों को इस खेल में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित करता हूं। मैं अपने परिवार को भी धन्यवाद देता हूं जो मेरे सबसे बड़े समर्थक हैं। लड़कियों की प्रतियोगिता के बाद अबू धाबी वर्ल्ड यूथ जिउ-जित्सु चैम्पियनशिप के दूसरे दिन ग्रे, पीला, नारंगी, हरा और नीला बेल्ट धारक 10 से 17 वर्ष के लड़के प्रतिस्पर्धा करेंगे। इस आयु वर्ग में शिशु, जूनियर और किशोर मुबादला रणभूमि में सुबह 11 बजे से मुकाबला करेंगे। अनुवादः वैद्यनाथ झा http://wam.ae/en/details/1395302757134

WAM/Hindi