कृषि क्षेत्र विकसित करने में जायद की भूमिका बीजिंग में प्रदर्शित  

बीजिंग, 14 मई, 2019 (डब्ल्यूएएम) - नेशनल मीडिया काउंसिल (एनएमसी) द्वारा प्रबंधित बीजिंग इंटरनेशनल हॉर्टिकल्चरल एग्जीबिशन हॉर्टिकल्चरल एक्सपो 2019 में यूएई के पवेलियन में देश की सभ्यता और संस्थापक पिता दिवंगत शेख जायद बिन सुल्तान अल नाहयान की विरासत प्रदर्शित की जा रही है। इवेंट का थीम ग्रीनिंग द डेजर्ट तथा स्लाेगन लीव ग्रीन, लीव बैटर है। यह इवेंट 7 अक्बूबर 2019 तक लाेगाें के लिए खुला रहेगा। एक्सपो की खासियत शैक्षिक और इंटरैक्टिव प्रदर्शें की एक विस्तृत श्रृंखला और सार्वजनिक कार्यक्रमों, विषयगत संगोष्ठियों और सांस्कृतिक कार्यक्रमों की एक श्रृंखला की मेजबानी है। एक्सपो के अंतर्राष्ट्रीय बागवानी प्रदर्शनी में यह यूएई की पहली भागीदारी है, कृषि क्षेत्र विकसित करने में देश के दिवंगत संस्थापक पिता शेख जायद बिन सुल्तान अल नाहयान की काेशिश पर राेशनी डाली गई है। पवेलियन कृषि क्षेत्र को विकसित करने व बढ़ाने में यूएई के बुद्धिमान नेतृत्व की दृष्टि को दर्शाता है, जिन्हाेंने स्पष्ट रणनीति और पहल के बाद रेगिस्तान को हरीयाली में तब्दील कर दिया तथा नवीनतम व सबसे उन्नत कृषि प्रौद्योगिकी का चित्रांकन किया। डिस्प्ले यूएई के अनुभव और स्थिरता-केंद्रित परियोजनाओं को भी प्रदर्शित करता है। पवेलियन में आने वाले आगंतुकाें की यात्रा शेख जायद के शब्दों के प्रदर्श गीव मी एग्रिकल्चर, आई गीव यू सिविलाइजेशन के साथ शुरू होती है। बाकी पवेलियन में हरित स्थानों की संख्या बढ़ाने में देश की काेशिश के साथ ही कृषि क्षेत्र में उन्नत तकनीकों के इस्तेमाल सारांश रूप में दिखाया गया है। आगंतुक शेख जायद की जीवनी और उनके कार्यक्रमों के बारे में भी जान सकते हैं, जिसका उद्देश्य रेगिस्तान को हरे क्षेत्रों में परिवर्तित करना है, साथ ही यूएई के कृषि नवाचारों को एक बड़े स्क्रीन पर दिखाया गया है। आगंतुकगण संयुक्त अरब अमीरात के स्थानीय वातावरण को प्रस्तुत करने वाली एक वृत्तचित्र फिल्म देख सकते हैं। फिल्म में संघ की स्थापना के समय से हुए बदलाव, देश के कृषि क्षेत्र का विकास, कृत्रिम बुद्धिमत्ता (एआई) का इस्तेमाल और इस संबंध में अन्य नवाचार दिखाई गई है। यूएई पवेलियन के बगीचे की विशेषता 80 प्रतिशत क्षेत्र कुल 1,850 वर्ग मीटर है। पवेलियन में संयुक्त अरब अमीरात के 36 ताड़ के पेड़ पगडंडी में हाेने का साथ ही 20 अन्य प्रजातियों के पेड़ों समेत एक ओएसिस, वॉकवे और 10 प्रजातियों के 2,500 पौधे हैं। उद्यान में अफलाज के मॉडल भी हैं, जो एक सिंचाई प्रणाली है। इसका इस्तेमाल अमीराती लोग सिंचाई और पेयजल लाने के मकसद से करते हैं। रेगिस्तानी वातावरण के जीवन को दिखाने के लिए रेत के टीले डिज़ाइन किए गए हैं। यात्रा के अंत में संयुक्त अरब अमीरात के कृषि इतिहास पर अंग्रेजी और अरबी में एनएमसी द्वारा निर्मित एक प्रचार फिल्म देखी जा सकती है, जाे एक्सपो 2020 दुबई के बारे में जानकारी प्रस्तुत करती है। अनुवादः वैद्यनाथ झा http://wam.ae/en/details/1395302762553

WAM/Hindi