शेख जायद ग्रैंड मस्जिद केंद्र ने जुसूर पहल शुरू की


अबू धाबी, 14 मई, 2019 (डब्ल्यूएएम) - शेख जायद ग्रैंड मस्जिद केंद्र ने धर्मों व संस्कृतियों के अंतर को पाटने तथा सद्भाव बढ़ाने की अपनी काेशिश के तहत रमजान के पवित्र महीने के दौरान जुसूर पहल शुरू करने की घोषणा की। यह पहल रमजान के पवित्र महीने के दाैरान मस्जिद में यूएई की विभिन्न संस्कृतियों, नस्लों और मान्यताओं के लोगों को रमजान की भावना का अनुभव करने, केंद्र के वार्षिक कार्यक्रम आवर फास्टिंग गेस्ट में भाग लेने और मस्जिद में हाेने वाले कार्यक्रमाें व गतिविधियों काे जानने के बारे में आमंत्रित करती है। नयी शुरू हुई यह पहल सहिष्णुता वर्ष के अनुरूप है तथा दुनिया की संस्कृतियों के बीच सहिष्णुता व सह-अस्तित्व को बढ़ावा देने में केंद्र की भूमिका को जारी रखता है। इसकी शुरूआत पर टिप्पणी करते हुए शेख जायद ग्रैंड मस्जिद केंद्र के महानिदेशक डॉ. यूसेफ अल ओबैदली ने कहा कि विभिन्न समुदायों और संस्कृतियों के बीच सीधा जुड़ाव तथा नजदीक से बातचीत लोगों के बीच खाई पाटने का बेहतर तरीके में से एक है। यह पहल विभिन्न धर्मों और संस्कृतियों के बीच मिलने-जुलने के कई क्षेत्रों की खोज करने की अनुमति सभी धर्मों व मान्यताओं द्वारा साझा किए जाने वाले सामान्य कुलीन मूल्यों के आधार पर देती है। केंद्र में सांस्कृतिक संचार विभाग के निदेशक अमल बमट्राफ ने कहा कि जुसूर पहल समृद्ध अमीराती मूल्यों और संस्कृति को बढ़ावा देती है, जो यूएई के लोगों को परिभाषित करती है। एक देश जिसे सहिष्णुता व सह-अस्तित्व का मुख्य स्राेत माना जाता है। यह पहल यूएई के भीतर विभिन्न संस्कृतियों के मेहमानों को रमजान की भावना का अनुभव करने तथा पवित्र महीने के बारे में मस्जिद में बातचीत करने के लिए आमंत्रित करके संचार का एक जरिया भी निर्मित करती है। अनुवादः वैद्यनाथ झा http://wam.ae/en/details/1395302762635

WAM/Hindi