अबू धाबी इकोनॉमिक विजन 2030 पर ग्लोबल मैन्युफैक्चरिंग एंड इंडस्ट्रियलाइजेशन समिट में चर्चा


येकातेरिनबर्ग, रूस, 10 जुलाई, 2019 (डब्ल्यूएएम) -- रूसी शहर येकातेरिनबर्ग में ग्लोबल मैन्युफैक्चरिंग एंड इंडस्ट्रियलाइजेशन समिट द अबू धाबी इकोनॉमिक विजन 2030 एक पैनल चर्चा का केंद्र बिंदु बना। यह दृष्टि एक उन्नत, ज्ञान आधारित और औद्योगिक अर्थव्यवस्था की ओर हाइड्रोकार्बन निर्यात पर निर्भरता से एक बदलाव के लिए प्रदान करती है। इस पैनल में शामिल अमीरात स्टील के सीईओ इंजी.सईद घुमरन अल रेमिथी और डिपार्टमेंट ऑफ इकनोमिक डेवलपमेंट और इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट ब्यूरो के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर अहमद अल बालोशी ने एयरोस्पेस, रक्षा और मोटर वाहन जैसे नए लक्ष्य क्षेत्रों में आगे बढ़ने के लिए अबू धाबी में विविध पहलों पर चर्चा की। अहमद अल बालोशी ने कहा कि एसएमई अबू धाबी की विविधीकरण योजनाओं का एक अनिवार्य हिस्सा थे और उन्होंने बताया कि कैसे अमीरात अपने औद्योगिक क्षेत्र में निवेश करने के लिए एसएमई के लिए आसान और आकर्षक बनाने के लिए अपनी नीतियों और कानून को संशोधित कर रहा है, जिसमें श्रम और भूमि पट्टे के नियमों में बदलाव शामिल है। अल बालोशी ने यह भी बताया कि वर्ष के अंत तक नया औद्योगिक कोष शुरू किया जाएगा, जो एसएमई क्षेत्र के विकास में सहयोग करेगा। अल बालोशी ने कहा, "हम एसएमई और उद्यमियों के परिचालन लागत को कम करने में बहुत प्रयास कर रहे हैं।"

सईद अल रेमिथी ने बताया कि अमीरात स्टील ने अबू धाबी की विविध महत्वाकांक्षाओं के साथ मिलकर विकास किया है और यूएई के निर्माण में सहयोग किया है। अब यह अगले कुछ वर्षों में अपने फ्लैट स्टील उत्पादन में वृद्धि करके डाउनस्ट्रीम धातु उद्योग के लिए उत्प्रेरक बनना चाहता है। उन्होंने यह भी बताया कि कैसे अमीरात स्टील अबू धाबी की पर्यावरणीय पहल का सहयोग कर रही थी। अंत में उनका मानना था कि भविष्य में हाइड्रोजन इस्पात उत्पादन प्रक्रिया में प्राकृतिक गैस की जगह ले सकता है। इस पैनल चर्चा के अलावा सरकार, उद्योग और शिक्षाविदों के नेताओं ने येकातेरिनबर्ग में 40 से अधिक सत्रों में बहस में शामिल होने के लिए एकत्रित हुए हैं, जिसमें विनिर्माण क्षेत्र, विनिर्माण में स्थिरता, परिपत्र अर्थव्यवस्था, खाद्य सुरक्षा, भविष्य के शहरों, साइबर सुरक्षा, 3डी प्रिंटिंग के विकास और सतत विकास लक्ष्यों के लिए 2030 एजेंडा में उनकी भूमिका सहित महत्वपूर्ण विषयों से चर्चा होनी है। अनुवादः एस कुमार.

http://wam.ae/en/details/1395302773392

WAM/Hindi