शिक्षा मंत्री ने कहा कि शिक्षा प्रणाली को आधुनिक मांगों के अनुकूल होना चाहिए


येकातेरिनबर्ग, रूस, 11 जुलाई, 2019 (डब्ल्यूएएम) -- संयुक्त अरब अमीरात के मंत्री हुसैन बिन इब्राहिम अल हम्मादी ने आज यहां ग्लोबल विनिर्माण और औद्योगिकीकरण शिखर सम्मेलन में कहा कि यदि सही मानव संसाधन नहीं है तो कोई देश पनप नहीं सकता है। शिक्षा मुख्य स्तंभ है, जिससे एक समाज आगे बढ़ सकता है। यूएई और संयुक्त राष्ट्र औद्योगिक विकास संगठन की एक संयुक्त पहल जीएमआईएस, 17 एसडीजी को आगे बढ़ाने के लिए दुनिया का पहला क्रॉस-इंडस्ट्री और क्रॉस-फ़ंक्शनल प्लेटफ़ॉर्म है, जो 9 -11 जुलाई से रूस के येकातेरिनबर्ग में चल रहा है। मंत्री ने कहा कि चौथी औद्योगिक क्रांति द्वारा संचालित परिवर्तन की गति इतनी तेज है कि भविष्य में कौशल विकास होना चाहिए, और देशों को अपनी शैक्षिक नीतियों को अपडेट करना चाहिए और इसके लिए संसाधनों का आवंटन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि परिवर्तन की गति से देशों को डरना नहीं चाहिए और इसके अनुकूल होकर तेज गति से आगे बढ़ना चाहिए। अल हम्मादी ने बताया कि यूएई ने देश की भविष्य की जरूरतों को पूरा करने के लिए 2014 से अपनी शैक्षणिक प्रथाओं को बदलाव शुरू किया। उन्होंने कहा कि आधुनिक समाज जीवन भर सीखने की मांग करता है। उच्च शिक्षा प्रणाली को इसके अनुकूल होना चाहिए, जिससे लोग जल्दी से जल्दी काम कर सकें। मंत्री ने कहा कि संयुक्त अरब अमीरात में रहने वाला प्रत्येक व्यक्ति भविष्य की एक संपत्ति है। अल हम्मादी ने कहा कि आज के पाठ्यक्रम को उद्योग और अर्थव्यवस्था की जरूरतों के साथ संरेखित करने के लिए इसे जीवित और समीक्षा करने की आवश्यकता है। अनुवादः एस कुमार.

http://wam.ae/en/details/1395302773504

WAM/Hindi