डब्ल्यूएएम रिपोर्ट: हरमाइन हाई-स्पीड रेल हज यात्रियों को तेज, आरामदायक, सुरक्षित यात्रा प्रदान करती है


अबू धाबी, 3 अगस्त, 2019 (डब्ल्यूएएम) -- हरमाइन हाई-स्पीड रेल परियोजना सऊदी रेलवे नेटवर्क के विस्तार कार्यक्रम में सबसे महत्वपूर्ण परिवहन परियोजनाओं में एक है। 300 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाली हरमाइन हाई-स्पीड रेल का लक्ष्य 450 किलोमीटर के इलेक्ट्रिक-रेल ट्रैक के जरिए किंग अब्दुल्ला इकोनोमिक सिटी व जेद्दाह एयरपोर्ट को मक्का व मदीना से जोड़ना है। ये ट्रेनें नवीनतम सिग्नलिंग और संचार प्रणाली से लैस हैं। इन ट्रेनों को अत्याधुनिक तकनीकों का उपयोग करते हुए पवित्र शहरों के बीच, परिवहन के तेज, आरामदायक, विश्वसनीय और सुरक्षित बनाया गया है। इस परियोजना का निर्माण मार्च 2009 में शुरू हुआ, और 25 सितंबर, 2018 को इसका आधिकारिक उद्घाटन किया गया। 11 अक्टूबर, 2018 को पहली दो ट्रेनों के साथ, 417 यात्रियों को लेकर लाइन को जनता के लिए खोला गया। सऊदी परिवहन मंत्री और जनरल ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी के अध्यक्ष, नबील अल-अमौदी के अनुसार, रेलवे एक वर्ष में करीब 60 मिलियन यात्रियों को ले जाएगी, जिसमें लगभग तीन से चार मिलियन हज और उमराह यात्री शामिल हैं। यह ट्रेन सेवा सड़कों पर यातायात की भीड़ को दूर करने में मदद करती है। दोनों पवित्र शहरों के बीच की दूरी को 120 मिनट में पूरी की जा सकती है। हज यात्रियों के लिए पहली सेवा 1 अगस्त 2019 को मदीना में शुरू की गई और विभिन्न राष्ट्रीयताओं के 170 तीर्थयात्रियों को ले जाया गया। मध्य पूर्व और उत्तरी अफ्रीका में सबसे तेज़ रेल सेवा परियोजना में 35 इलेक्ट्रिक ट्रेनें एक वर्ष में 60 मिलियन यात्रियों को ले जाएंगी। एक ट्रेन में 417 यात्रियों को बैठाने की क्षमता है। मक्का, मदीना, किंग अब्दुल्ला इकोनॉमिक सिटी स्टेशन, किंग अब्दुलअजीज इंटरनेशनल एयरपोर्ट और जेद्दाह लाइन पर पांच स्टॉप हैं। सऊदी रेलवे संगठन के अनुसार स्टेशनों के निर्माण में इस्लामी वास्तुकला परंपराओं का ध्यान रखा गया है। इन स्टेशनों में दुकानें, रेस्तरां, मस्जिद, कार पार्किंग, एक हेलीपैड और वीआईपी लाउंज होंगे। अनुवादः एस कुमार.

http://www.wam.ae/en/details/1395302778478

WAM/Hindi