अमीराती महिला डॉक्टरों ने स्वयंसेवक के रूप में 1.5 मिलियन स्वयंसेवक घंटे पूरे किए 

  • طبيبات الإمارات يتطوعون بمليون ونصف المليون ساعة تطوع لخدمة الإنسانية
  • طبيبات الإمارات يتطوعون بمليون ونصف المليون ساعة تطوع لخدمة الإنسانية
  • طبيبات الإمارات يتطوعون بمليون ونصف المليون ساعة تطوع لخدمة الإنسانية
  • طبيبات الإمارات يتطوعون بمليون ونصف المليون ساعة تطوع لخدمة الإنسانية

अबू धाबी, 1 सितंबर, 2019 (डब्ल्यूएएम) -- 'हर हाइनेस शेखा फातिमा बिन्त मुबारक वॉलेन्टीयरिंग प्रोग्राम' की महिला डॉक्टर्स स्थानीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर एक स्वयंसेवक के रूप में 1.5 मिलियन घंटे पूरी कर चुकी हैं। 'वी आर ऑल मदर फातिमा' नारे के तहत लगातार काम करने वाली इन महिला चिकित्सकों का प्रयास सामाजिक व सामुदायिक क्षेत्र में महिला सशक्तिकरण का एक अभिनव मॉडल है, जो सहिष्णुता के वर्ष के अनुरूप है। जनरल वुमन यूनियन की निदेशक नोरा अल सुवेदी ने कहा कि महिला डॉक्टरों ने संयुक्त अरब अमीरात, मोरक्को, सूडान, मिस्र, ज़ांज़ीबार, लेबनान, सोमालिया, बांग्लादेश और अन्य देशों में मोबाइल क्लीनिक और क्षेत्र के अस्पतालों का संचालन किया व मानवीय चिकित्सा स्वयंसेवी अभियानों का प्रबंधन किया। हर हाइनेस शेखा फातिमा बिंत मुबारक स्वयंसेवी कार्यक्रम देश में अपनी तरह का पहला कार्यक्रम है, जिसमें स्वास्थ्य, शिक्षा, पर्यावरण और संस्कृति से संबंधित विकास, सामाजिक और आर्थिक कार्यक्रमों में निजी क्षेत्र की भागीदारी को प्रोत्साहित किया जाता है। अल सुवेदी ने कहा कि संस्थानों के बीच सामाजिक और मानवीय जिम्मेदारी की संस्कृति है। अनुवादः एस कुमार.

http://wam.ae/en/details/1395302783185

WAM/Hindi