यूएई और सऊदी अरब ने यमन पर संयुक्त बयान जारी किया


अबू धाबी, 8 सितंबर, 2019 (डब्ल्यूएएम) -- यूएई और सऊदी अरब ने यमन की वैध सरकार और सदर्न ट्रांजिशनल काउंसिल द्वारा बातचीत के लिए सऊदी के आह्वान का स्वागत किया है। दोनों देशों ने कहा हे कि यह अदन, अबयान और शबवा शासन में हालिया संकटों को समाप्त करने की दिशा में "एक प्रमुख और सकारात्मक कदम" है। एक संयुक्त बयान में दोनों देशों ने कहा कि विभाजन को त्यागने के लिए "इस सकारात्मक माहौल और भाईचारे की भावना" में काम करना जारी रखना महत्वपूर्ण है। यह 26 अगस्त को यमन की अंतरिम राजधानी अदन में हुई घटनाओं से संबंधित एक संयुक्त बयान का अनुसरण करता है। दोनों देशों ने कहा कि वे रचनात्मक वार्ता की तैयारी में संघर्ष विराम को लागू करने के लिए विभिन्न दलों के साथ काम कर रहे हैं जिसका उद्देश्य संघर्ष को समाप्त करना है। इस तरह का रुख गठबंधन के सदस्यों के रूप में दोनों देशों की जिम्मेदारियों को दर्शाता है और संकट को रोकने के लिए जारी राजनीतिक और सैन्य प्रयासों का निर्माण करता है। दोनों देशों ने सार्वजनिक और निजी संपत्ति के लक्ष्यीकरण सहित सभी सशस्त्र टकरावों और उल्लंघनों को तत्काल समाप्त करने का आह्वान किया। इसके अलावा उन्होंने सार्वजनिक व्यवस्था को बनाए रखने के लिए सशस्त्र संघर्षों की निगरानी और स्थिरीकरण के लिए सऊदी अरब और यूएई द्वारा गठित संयुक्त समिति के साथ काम करने के लिए सभी पक्षों का आह्वान किया। इस बयान ने मीडिया में संकट से उबरने के लिए सभी पक्षों की जिम्मेदारी को ध्यान में रखते हुए, सुरक्षा, स्थिरता और एकता की खोज में यमनी लोगों के हितों को प्राथमिकता देने को कहा गया है। दोनों सरकारों ने ईरानी विस्तारवाद पर अंकुश लगाने के अलावा यमन में सक्रिय हौथी मिलिशिया और आतंकवादी संगठनों को परास्त करते हुए यमनी राज्य की अखंडता को बनाए रखने के अपने प्रयासों में यमन की वैध सरकार के लिए उनके निरंतर सहयोग की पुष्टि की। संयुक्त बयान में कहा गया है कि दोनों देश हौथी नियंत्रण से मुक्त यमनी गवर्नरों को मानवीय सहायता प्रदान करते रहेंगे। अनुवादः एस कुमार.

http://wam.ae/en/details/1395302784804

WAM/Hindi