अब्दुल्ला बिन जायद ने 'एजुकेशन एंड ह्यूमन रिसोर्सेज काउंसिल' की बैठक की अध्यक्षता की

  • عبدالله بن زايد يترأس اجتماع مجلس التعليم والموارد البشرية
  • عبدالله بن زايد يترأس اجتماع مجلس التعليم والموارد البشرية
  • عبدالله بن زايد يترأس اجتماع مجلس التعليم والموارد البشرية

अबू धाबी, 9 सितंबर, 2019 (डब्ल्यूएएम) -- अबू धाबी में विदेश मंत्रालय और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग मंत्रालय के मुख्यालय में विदेश मामलों के और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग मंत्री और शिक्षा और मानव संसाधन परिषद के अध्यक्ष हिज हाइनेस शेख अब्दुल्ला बिन जायद अल नहयान ने काउंसिल की बैठक की अध्यक्षता की है। बैठक के दौरान हिज हाइनेस शेख अब्दुल्ला बिन जायद ने उन सभी छात्रों को शुभकामनाएं दीं जिन्होंने पिछले दो सप्ताह में अपना शैक्षणिक वर्ष शुरू किया। इसके बाद उन्होंने बच्चों की शैक्षिक यात्रा में अभिभावकों की भागीदारी के महत्व पर प्रकाश डाला। संस्कृति और ज्ञान विकास मंत्री नूरा बिन्त मोहम्मद अल काबी ने "द अरबिक लैंग्वेज स्टेट एंड इट्स फ्यूचर" के तहत एक रिपोर्ट प्रस्तुत की, जो कि उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और दुबई के शासक हिज हाइनेस शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम के निर्देश पर जारी किया गया था। रिपोर्ट यूएई और अन्य अरब देशों के अरबी भाषा को बढ़ावा देने के प्रयासों के साथ यूएई विजन 2021 का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है, जो देश को अरबी भाषा की उत्कृष्टता का केंद्र बनाएगा। परिषद ने संस्कृति और ज्ञान विकास मंत्रालय की "फोक आर्ट्स प्रोजेक्ट" पर चर्चा की, जिसका उद्देश्य यूएई की संस्कृति और विरासत को प्रदर्शित करने वाले लोकगीत समूहों को व्यवस्थित करने के लिए प्रासंगिक नीतियों को अपनाना है। शिक्षा मंत्रालय के सहयोग से यह परियोजना लोक कला परिदृश्य में स्थानीय प्रतिभाओं को प्रशिक्षित और प्रोत्साहित भी करेगी। बैठक के दौरान शिक्षा और ज्ञान विभाग की अध्यक्षा सारा अवध इसा मुसलाम ने "एजुकेशनल पार्टनरशिप स्कूल्स प्रोजेक्ट" प्रस्तुत किया, जिसका उद्देश्य स्कूलों का एक मॉडल बनाना है। यह परियोजना गवर्नमेंट ऑक्सीलेटर प्रोग्राम "गदन 21" की पहल में से एक है, जो सार्वजनिक और निजी क्षेत्रों को दूसरे देशों में सफलतापूर्वक लागू की गई तीसरी शैक्षणिक प्रणाली को अपनाने में सहयोग करने के लिए प्रोत्साहित करता है। काउंसिल को युवा मामलों की राज्य मंत्री और संघीय युवा प्राधिकरण के अध्यक्ष शम्मा बिन्त सुहैल फारिस अल मजरूई द्वारा पेश किए गए एक प्रस्ताव के बारे में जानकारी दी गई थी, ताकि सभी संघीय और स्थानीय अधिकारियों को शामिल रणनीतिक उद्देश्यों के साथ एक व्यापक प्रणाली के हिस्से के रूप में उनकी छुट्टियों के दौरान छात्रों और लक्षित समूहों के लिए गतिविधियों का एक कार्यक्रम विकसित करना है। उन्होंने अपने वर्तमान विश्लेषण और विभिन्न केंद्रों और शिविरों में छुट्टी की अवधि के दौरान उपलब्ध घटनाओं और कार्यक्रमों का विवरण प्रस्तुत किया हैं, जो व्यापक कौशल विकास को प्रोत्साहित करते हैं। उन्होंने संबंधित अधिकारियों और स्थानीय और राष्ट्रीय भागीदारों के बीच सहयोग के महत्व पर प्रकाश डालते हुए इन कार्यक्रमों को मजबूत करने के लिए अपने विचार प्रस्तुत किए। बैठक में अर्थव्यवस्था मंत्री सुल्तान बिन सईद अल मंसूरी; शिक्षा मंत्री हुसैन बिन इब्राहिम अल हम्मादी; संस्कृति और ज्ञान विकास मंत्री नूरा बिन्त मोहम्मद अल काबी; मानव संसाधन और अमीरात मंत्री नासिर बिन थानी अल हमली; सामुदायिक विकास मंत्री हेसा एसा बुहुमैद; लोक शिक्षा राज्य मंत्री जमीला अल मुहेइरी; उच्च शिक्षा और उन्नत कौशल राज्य मंत्री और परिषद के महासचिव डॉ. अहमद बिन अब्दुल्ला हमैद बेलहौल अल फलासी; युवा मामलों के राज्य मंत्री शम्मा बिंट सुहैल फारिस अल मज़रूई और उन्नत विज्ञान राज्य मंत्री सारा बिन्त यूसुफ अल अमीरी ने भाग लिया। अनुवादः एस कुमार.

http://www.wam.ae/en/details/1395302785192

WAM/Hindi