एक्सक्लूसिव: एस्टोनियाई राष्ट्रपति ने कहा कि उनका देश और यूएई अन्य देशों को 'डिजिटल क्रांति लाने में मदद कर सकते हैं'

विडियो तस्वीर

अबू धाबी, 10 सितंबर, 2019 (डब्ल्यूएएम) -- अमीरात समाचार एजेंसी (डब्ल्यूएएम) से बातचीत करते हुए एस्टोनियाई राष्ट्रपति क्रस्टी कलजुलैद ने बताया कि यूएई और एस्टोनिया डिजिटल क्रांति में प्रवेश करने में अन्य देशों की मदद करने के लिए एक साथ काम कर सकते हैं। राष्ट्रपति कलजुलैद अबू धाबी में चल रहे 24वें वर्ल्ड एनर्जी कांग्रेस में भाग लेने वाले एक व्यापारिक प्रतिनिधिमंडल के साथ संयुक्त अरब अमीरात का दौरा कर रही हैं। उन्होंने कहा, "हम विकास के लिए सरकारों के साथ मिलकर काम कर सकते हैं। उदाहरण के तौर पर अफ्रीकी देशों को डिजिटल तकनीकों का उपयोग करने में मदद कर सकते हैं।"

जब उन्हें यूएई और एस्टोनिया के बीच व्यापार संबंधों और निवेश के अवसरों पर टिप्पणी करने के लिए कहा गया, तो कलजुलैद ने व्यापार-से-व्यापार निवेश को प्रोत्साहित किया। उन्होंने बातचीत के क्रम में अपने देश के व्यापार प्रतिनिधि कार्यालय, एंटरप्राइज एस्टोनिया का उल्लेख किया जो हाल ही में दुबई में खोला गया है। एस्टोनिया इस साल अबू धाबी में एक नया दूतावास खोलने के साथ एक्सपो 2020 दुबई में भी भाग लेने के लिए तैयार है। यूएई के आर्थिक आंकड़ों के अनुसार, दोनों देशों के बीच 2018 में कुल गैर-तेल व्यापार 75.8 मिलियन अमेरिकी डॉलर तक पहुंच गया। कलजुलैद ने कहा कि दोनों देशों की सरकारें व्यापार संबंधों को और मजबूत बनाने में भूमिका निभा सकती हैं, उन्होंने कहा, "सहयोग करने के विभिन्न तरीके हैं।"

उन्होंने कहा, "सरकारें केवल कानूनी निर्धारित कर सकती हैं जो नई प्रौद्योगिकियों को एक ही समय में आने और निवेशकों की रक्षा करने और उन्हें बचाने के लिए अनुमति देती हैं।"

एस्टोनिया द्वारा सरकारी सेवाओं के डिजिटलीकरण और ऊर्जा उद्योग पर विघटनकारी प्रौद्योगिकियों के प्रभाव के बारे में पूछे जाने पर राष्ट्रपति ने कहा कि उनके देश में 99 फीसदी सरकारी सेवाएं ऑनलाइन उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा, "एस्टोनिया ई-गवर्नेंस और हमारी सार्वजनिक ई-सेवाओं में बहुत मजबूत है, लेकिन निश्चित रूप से ये सेवाएं बिजनेस-टू-बिजनेस के लिए भी काम कर सकती हैं। हमारे सभी सेवा विभाग एक सुरक्षित और सुनिश्चित डिजिटल आईडी से शुरू होते हैं।"

एस्टोनिया को 2017 में अमेरिकी प्रौद्योगिकी पत्रिका 'वायर्ड' द्वारा "दुनिया में सबसे उन्नत डिजिटल समाज" के रूप में नामित किया गया था। हर एस्टोनियाई नागरिक की एक डिजिटल आईडी है. जिसका उपयोग बैंकिंग के लिए और वोट देने, करों का भुगतान करने और स्वास्थ्य सेवा रिकॉर्ड तक पहुंचने के लिए किया जा सकता है। ई-एस्टोनिया ’के अनुसार, केएसआई एक ब्लॉकचेन तकनीक है जिसे एस्टोनिया में डिजाइन किया गया है और विश्व स्तर पर इसका उपयोग नेटवर्क, सिस्टम और 100 फीसदी डेटा गोपनीयता सुनिश्चित करने के लिए किया जाता है। राष्ट्रपति ने डेटा अखंडता के महत्व को भी उल्लेख किया। उन्होंने कहा, "डेटा को सहकर्मी से लेकर सहकर्मी, लोगों को कंपनियों और सरकार व नागरिकों के बीच भी भेजा जा सकता है, इस डेटा हस्तांतरण को एक भरोसेमंद प्रारूप में होना चाहिए।"

उन्होंने अंत में कहा, एस्टोनियाई लोग एक समाज के रूप में इस तरह की सरकार को सुरक्षित सेवाओं और ब्लॉकचेन की संरक्षित पारिस्थितिकी तंत्र प्रदान करने के अभ्यस्त हैं। यदि सरकार लोगों से वादा करती है कि डेटा उसके हाथों में सुरक्षित है, तो ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकियों वास्तव में गारंटी हो सकता है।"

अनुवादः एस कुमार.

http://wam.ae/en/details/1395302785467

WAM/Hindi