'लेटर ऑफ द न्यू सीजन' फॉलोअप कमेटी की पहली बैठक आयोजित


अबू धाबी, 10 सितंबर, 2019 (डब्ल्यूएएम) -- उप प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति मामलों के मंत्री हिज हाइनेस शेख मंसूर बिन जायद अल नहयान के नेतृत्व में 'लेटर ऑफ द न्यू सीजन' के तहत फॉलो-अप समिति ने अबू धाबी में राष्ट्रपति कार्य मंत्रालय के मुख्यालय में अपनी पहली बैठक की। समिति का उद्देश्य उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और दुबई के शासक हिज हाइनेस शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम के निर्देशों को लागू करना है। साथ ही उनके पत्र में शामिल छह सिद्धांतों को रणनीतिक योजनाओं और स्पष्ट संकेतकों के साथ व्यावहारिक नीतियों के साथ सभी राष्ट्रीय संस्थानों में आर्थिक, सामाजिक और मीडिया उन्नति प्राप्त करने के लिए सभी कानूनी और प्रक्रियात्मक उपायों को शामिल करना है। बैठक के दौरान शेख मंसूर ने कहा, "हिज हाइनेस शेख मोहम्मद का पत्र सही समय पर आया, जो समुदाय की नब्ज को दर्शाता है। यूएई सफल रहा है क्योंकि इसके नेता वास्तविकता से जुड़े हैं और लोगों की जरूरतों को समझते हैं। हमने महत्वपूर्ण उपलब्धियां हासिल की हैं जिनकी हमें रक्षा करनी चाहिए और हमें भविष्य के लिए पूरी पारदर्शिता के साथ योजना बनानी चाहिए।"

शेख मंसूर ने अमीरातीकरण के मुद्दे पर हिज हाइनेस शेख मोहम्मद के नए सीजन संदेश के अनुच्छेद 3 का उल्लेख किया, यह देखते हुए कि सोच का एक नया तरीका आवश्यक है। संदेश की आर्थिक दृष्टि के बारे में उन्होंने कहा, "हमें अगले दशक में देश में प्रमुख विकास परियोजनाओं की स्थिति जानने की जरूरत है।"

समिति की पहली बैठक के एजेंडे में इसके पहले 100 दिनों की कार्य योजना, इसके प्रमुख प्रणाली को अपनाना, उप-समितियों का गठन और उनके उद्देश्यों और कार्यों की पहचान को शामिल किया गया। समिति के अन्य सदस्यों में कैबिनेट मामलों व भविष्य के मंत्री और समिति के उपाध्यक्ष मोहम्मद बिन अब्दुल्ला अल गर्गावी; अर्थव्यवस्था मंत्री सुल्तान बिन सईद अल मंसौरी; मानव संसाधन और अमीरात के मंत्री नासिर बिन थानी अल हमली; राज्य मंत्री और राष्ट्रीय मीडिया परिषद के अध्यक्ष सुल्तान बिन अहमद अल जाबेर; खुशी और भलाई के लिए राज्य मंत्री ओहौद बंट काफलन अल रूमी; यूएई के अटॉर्नी-जनरल डॉ. हमाद सैफ अल शम्सी और सर्वोच्च राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के एक प्रतिनिधि शामिल हैं। समिति के कार्यों में हिज हाइनेस शेख मोहम्मद के निर्देशों को लागू करने के लिए आवश्यक कानूनी और प्रक्रियात्मक रूपरेखाओं का मसौदा तैयार करना, अपनी उप-समितियों का गठन करना और पहले 100-दिवसीय योजना का मसौदा तैयार करना शामिल है जिसे यूएई कैबिनेट को प्रस्तुत किया जाएगा। इसका उद्देश्य योजनाओं, कार्यक्रमों और पहलों को विकसित करना है जो पत्र के कार्यान्वयन का सहयोग करेंगे, इसकी उप-समितियों की निगरानी करेंगे और उनके प्रदर्शन की निगरानी करेंगे और कैबिनेट को इसके कार्य पर प्रदर्शन रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे। चार प्रमुख कार्य स्तंभों की पहचान की गई है जो फील्डवर्क और लोगों के संचार, मीडिया, अमीरात और भविष्य के नए विकास विचारों के हैं। फील्डवर्क और लोगों के साथ संवाद लोगों के साथ संवाद स्थापित करने के लिए काम करने वाली टीम को अधिकारियों और मंत्रियों की उपस्थिति सुनिश्चित करनी चाहिए। टीम को नागरिकों की जरूरतों का भी पता लगाना चाहिए और शिकायतों का निराकरण करना चाहिए और विभिन्न परियोजनाओं की प्रगति में बाधा डालने वाले मुद्दों को हल करना चाहिए। नए भविष्य के विकास के विचार इस स्तंभ का उद्देश्य समिति के गठन के एक महीने के भीतर हिज हाइनेस शेख मोहम्मद को दस नवीन और आसानी से लागू किए गए विकास विचारों को प्रस्तुत करना है। प्रत्येक विचार में एक स्पष्ट आर्थिक प्रभाव होना चाहिए जो आर्थिक और राष्ट्रीय अनुक्रमितों को सकारात्मक रूप से लाभान्वित करेगा, साथ ही स्थानीय सरकारों के बीच अगले दशक के लिए यूएई के समग्र विकास योजना को प्राप्त करने के लिए एक समन्वय ढांचे का मसौदा तैयार करने में मदद करेगा। अमीरातकरण अमीरात के स्तंभ का उद्देश्य यूएई के नागरिकों की क्षमताओं को प्रशिक्षित करने और उनका निर्माण करने के लिए एक व्यापक राष्ट्रीय योजना का मसौदा तैयार करना है और उन्हें सही ढंग से निवेश करना है साथ ही उन्हें महत्वपूर्ण क्षेत्रों में वितरित करना है जो उनकी विशेषज्ञता और ज्ञान से लाभान्वित हो सकते हैं। इस स्तंभ का उद्देश्य संघीय और स्थानीय प्राधिकरणों और निजी क्षेत्र के प्रयासों को समन्वित करना भी है, जो अमीरात की रणनीतिक योजना की दक्षता सुनिश्चित करने के साथ नागरिकों को सशक्त बनाता है और उनकी क्षमताओं और कौशल का सही उपयोग करता है। संचार माध्यम इस स्तंभ का उद्देश्य सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं के लिए स्पष्ट नियंत्रण और मानक स्थापित करना है और यूएई की प्रतिष्ठा का दुरुपयोग करने वालों की निगरानी करना है साथ ही राष्ट्रीय विषयों पर सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं के लिए जागरूकता कार्यशालाओं का आयोजन करना है। हिज हाइनेस शेख मोहम्मद अंत में पत्र को समाप्त कहते हुए कहा कि भविष्य उज्जवल है और क्षेत्र के लिए सबसे अधिक प्रतिस्पर्धी, सबसे तेजी से विकसित और सबसे उन्नत देश के रूप में यूएई भविष्य के लिए तैयार है। अनुवादः एस कुमार.

http://wam.ae/en/details/1395302785548

WAM/Hindi