दुबई क्राउन प्रिंस ने अमीराती एस्ट्रोनॉट्स से फोन पर बात की, उनकी सफलता की कामना की


दुबई, 10 सितंबर, 2019 (डब्ल्यूएएम) -- अमीराती एस्ट्रोनॉट्स हज्जा अल मंसूरी और सुल्तान अल नेदी के साथ दुबई के क्राउन प्रिंस हिज हाइनेस शेख हमदान बिन मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम ने टेलीफोन पर बात की। बातचीत के दौरान, शेख हमदान ने कहा कि अंतरिक्ष यात्री यूएई का गौरव हैं और उनके प्रयासों से देश को अंतरिक्ष क्षेत्र में ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल करने में मदद मिलेगी। "इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन के लिए यह ऐतिहासिक यात्रा अरब दुनिया में एक नई वैज्ञानिक क्रांति का रास्ता खोलेगी। यह उपलब्धि अरब जगत की गौरवशाली सभ्यता को पुनर्जीवित करने के लिए दुबई के उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और शासक हिज हाइनेस शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम के दृष्टिकोण में योगदान करेगी।"

शेख हमदान ने पूरे प्रोजेक्ट के दौरान अंतरिक्ष यात्रियों और सहयोग टीमों को उनके समर्पण और प्रतिबद्धता के लिए धन्यवाद दिया। अमीराती अंतरिक्ष यात्री रूस की राजधानी मास्को में मंगलवार को रूस के गागरिन रिसर्च एंड टेस्ट कॉस्मोनॉट ट्रेनिंग सेंटर में प्रशिक्षण पूरा करने के बाद कजाकिस्तान के बैकोनूर शहर के लिए रवाना हुए। गागरिन सेंटर में एक विदाई समारोह आयोजित किया गया था जिसमें मोहम्मद बिन राशिद स्पेस सेंटर (एमबीआरएससी) के अध्यक्ष हमद ओबैद अल मंसूरी; एमबीआरएससी के महानिदेशक यूसुफ हमद अलशैबानी और एमबीआरएससी में वैज्ञानिक और तकनीकी मामलों के सहायक महानिदेशक सलेम अल मैरिज उपस्थित थे। हमद अल मंसूरी ने कहा, "हम अब एक महत्वपूर्ण चरण में हैं जो यूएई के बुद्धिमान नेतृत्व और इसके लोगों के प्रयासों को दर्शाता है। यह उल्लेखनीय उपलब्धि है।"

उन्होंने कहा, "हमने जो हासिल किया है, उसको लेकर हमें वास्तव में गर्व है। आज, हेजा अल मंसूरी और सुल्तान अल नेदी ने दिवंगत शेख जायद बिन सुल्तान अल नहयान की महत्वाकांक्षाओं को आगे बढ़ाया और अंतरिक्ष में यूएई के झंडे को उठाने के लिए हमारे बुद्धिमान नेतृत्व में अपनी प्रतिज्ञा को नवीनीकृत किया। हमें गर्व का अनुभव कराने के लिए मैं उन्हें धन्यवाद देना चाहता हूं और उन्हें शुभकामनाएं देता हूं।"

यूसुफ अल शबानी ने कहा, "हम एक ऐतिहासिक घटना देख रहे हैं जो वैज्ञानिक प्रयोगों से नए परिणामों के साथ मानवता को समृद्ध करने में वैश्विक वैज्ञानिक समुदाय को शामिल करने के लिए संयुक्त अरब अमीरात के दृढ़ संकल्प को दर्शाता है, जो मानव जीवन के सुधार में योगदान देता है।"

अल शबानी ने कहा, "मास्को में प्रशिक्षण और परीक्षणों के सफल समापन के बाद, हम पूरी तरह से आश्वस्त हैं और आईएसएस के लिए अपने पहले मिशन के लिए तैयार हैं।"

दोनों अंतरिक्ष यात्री आज 10 सितंबर को कजाकिस्तान के बैकोनूर में आईएसएस के लिए अंतरिक्ष मिशन के शुभारंभ से पहले 15-दिवसीय तैयारी के लिए पहुंचे। इस दौरान उनके साथ अंतरिक्ष यात्री कार्यालय के प्रबंधक सईद करमोस्तजी और फ्लाइट सर्जन डॉ. हनन अल सुवेदी भी थे, जिन्हें हाल ही में एमबीआरएससी और मोहम्मद बिन राशिद यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिसिन एंड हेल्थ साइंसेज के बीच एक साझेदारी के माध्यम से इस पद पर नियुक्त किया गया था। इस अवधि के दौरान रूसी फेडरल मेडिकल-बायोलॉजिकल एजेंसी उनके स्वास्थ्य के लिए पूरी तरह से जिम्मेदारी होगी। लॉन्च से पहले अल मंसूरी अपने निजी सामान जैसे पारिवारिक तस्वीरें और कुछ यादें, यूएई ध्वज और लोगो के अलावा उन पर रखे एमबीआरएससी के स्टांप के साथ विशिष्ट कोड का उपयोग करके सोयूज एमएस-15 के अंदर रखेंगे। अल मंसूरी 100 फीसदी रेशम से बने यूएई ध्वज को ले जाएंगे। इसके अलावा अपोलो अंतरिक्ष यात्रियों के के साथ दिवंगत शेख जायद बिन सुल्तान अल नहयान की एक तस्वीर, पवित्र कुरान की एक कॉपी, यूएई के उपाध्यक्ष और प्रधानमंत्री और दुबई के शासक हिज हाइनेस शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम की ‘माई स्टोरी’ पुस्तक की एक कॉपी होगी। अनुवादः एस कुमार.

http://wam.ae/en/details/1395302785550

WAM/Hindi