'ह्युमन फ्रेटरनिटी डॉक्युमेन्ट’ पर समिति ने पहली बैठक की


वेटिकन सिटी, 12 सितंबर, 2019 (डब्ल्यूएएम) -- कैथोलिक चर्च के प्रमुख पोप फ्रांसिस बुधवार को वेटिकन में कासा सांता मार्टा में मिले। सात सदस्यीय उच्च समिति की पहली बैठक यहां 'डॉक्युमेंट ऑन ह्युमन फ्रेटरनिटी फॉर वर्ल्ड पीस एंड लिविंग टुगेदर' के लक्ष्यों को हासिल करने के लिए आयोजित की गई थी। हिज होलीनेस पोप के प्रेस कार्यालय ने एक बयान जारी कर कहा कि 11 सितंबर का दिन "जीवन और भाईचारे के निर्माण की इच्छाशक्ति के संकेत के रूप में चुना गया था, वहीं अन्यों ने मृत्यु और विनाश का बीज बोया था।" पोप फ्रांसिस ने समिति के सदस्यों और समिति के सचिवालय के प्रमुखों को बधाई दी। समिति में हिज होलीनेस का प्रतिनिधित्व इंटरप्रिन्योर डायलॉग फॉर पोंटिफिकल काउंसिल के अध्यक्ष बिशप मिगुएल एंजल आयुसो गुइकोट और पोप के निजी सचिव मैसेंजर योनिस लाहज गैद कर रहे है। अल-अजहर विश्वविद्यालय का प्रतिनिधित्व इसके अध्यक्ष प्रोफेसर डॉ. मोहम्मद हुसैन अब्देल अजीज हसन और न्यायाधीश और ग्रैंड इमाम अल-तैयब के पूर्व सलाहकार मोहम्मद महमूद अब्देल सलाम कर रहे हैं। यूएई का प्रतिनिधित्व संस्कृति और पर्यटन विभाग के अध्यक्ष मोहम्मद खलीफा अल मुबारक; लेखक और पत्रकार यासर सईद अब्दुल्ला हरेब अलमुहिरी और मुस्लिम बुजुर्गों के महासचिव सुल्तान फैसल अल खलीफा अलमिथी कर रहै है। समिति ने अपनी गतिविधि शुरू करने के लिए कई पहल की पहचान की, जिसमें संयुक्त राष्ट्र को निर्देश दिया गया कि 3 से 5 फरवरी के बीच 'डे ऑफ ह्युमन फ्रेटरनिटी' और अन्य विश्व धर्मों के प्रतिनिधियों को समिति में भाग लेने के लिए आमंत्रित करने का एक और प्रस्ताव घोषित किया जाए। समिति की अगली बैठक 20 सितंबर, 2019 को न्यूयॉर्क में होगी। 4 फरवरी 2019 को अबू धाबी में ह्युमन फ्रेटरनिटी पर एक वैश्विक सम्मेलन के दौरान डॉक्यूमेंट ऑन ह्युमन फ्रेटरनिटी फॉर वर्ल्ड पीस एंड लिविंग टुगेदर के दस्तावेज में पोप फ्रांसिस और अल अजहर के ग्रैंड इमाम डॉ. अहमद अल-तैयब द्वारा हस्ताक्षर किए थे। दस्तावेज़ को लागू करने के लिए यूएई द्वारा 19 अगस्त को एक समिति का गठन किया गया था। अनुवादः एस कुमार.

http://wam.ae/en/details/1395302786082

WAM/Hindi