ईयर ऑफ टॉलरेंस लोगों को साथ लाता हैः ऑस्ट्रेलियाई पैरालम्पियन


अबू धाबी, 9 अक्टूबर, 2019 (डब्ल्यूएएम) -- ऑस्ट्रेलियाई पैरालम्पियन जेसिका स्मिथ ने कहा है कि ईयर ऑफ टॉलरेंस से उन्हें "अच्छी भावना" मिलती है। उन्होंने मंगलवार को ऑस्ट्रेलियाई दूतावास द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम के मौके पर अमीरात समाचार एजेंसी (डब्ल्यूएएम) से बातचीत करते हुए कहा, "यूएई में पहुंचने के बाद से मैं ईमानदारी से इस चीज से बहुत आश्चर्यचकित हूं, जिसका नाम ईयर ऑफ टॉलरेंस है।"

स्मिथ, जो बिना हाथ के पैदा हुए थे, को बचपन में ही चोट लगी और वह किशोरावस्था में उन्हें एनोरेक्सिया हो गया। उन्होंने सात साल तक तैराकी के खेल में ऑस्ट्रेलिया का प्रतिनिधित्व किया। वह 2004 में एथेंस, ग्रीस में हुए पैरालंपिक खेलों में भी भाग ले चुके हैं। अब सेवानिवृत्त हो चुकी इस एथरलीट को हाल ही में ऑर्डर ऑफ ऑस्ट्रेलिया मेडल से सम्मानित किया गया है। उन्होंने डब्ल्यूएएम को यूएई में आने के अपने अनुभव के बारे में बताया था और उसके लिए ईयर ऑफ टॉलरेंस क्या मायने रखता है। स्मिथ ने कहा कि यूएई में हर किसी में वास्तविक जिज्ञासा है, जो उन्हें व्यक्तियों से जोड़ रहा है। न केवल सीखने व समझने के स्तर पर, बल्कि सामुदायिक स्तर पर व वैश्विक स्तर पर भी। उन्होंने कहा, "यह महसूस करना कि लोग सवाल पूछने के लिए तैयार हैं और अधिक जानना चाहते हैं और यह वास्तव में अच्छा अहसास है।"

उन्होंने आगे कहा कि "यह रोमांचक है क्योंकि मुझे पता है कि इस अद्भुत वर्ष के कारण बहुत सी चीजें ट्रांसपायर होने वाली हैं और मैं देख सकता हूं कि जिस तरह से लोग सहिष्णुता और विविधता और समावेश के बारे में बात कर रहे हैं।"

दो छोटे बच्चों की मां स्मिथ विकलांगता और इसकी स्वीकृति पर एक पुस्तक भी लिख चुकी हैं। उनकी पहली स्व-प्रकाशित पुस्तक 'लिटिल मिस जेसिका गोज टू स्कूल', एक युवा लड़की के बारे में है। 10 अक्टूबर को वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे के अवसर पर स्मिथ ने मानसिक स्वास्थ्य और मानसिक बीमारी के बारे में भी बातचीत की। स्मिथ ने सामाजिक और नीति उन्मुख लक्ष्यों में प्रभावी बदलाव लाने के लिए संचार के महत्व पर जोर दिया। अनुवादः एस कुमार.

http://wam.ae/en/details/1395302793382

WAM/Hindi