यूएई फतवा परिषद के अध्यक्ष पोप फ्रांसिस से मिले


वेटिकन सिटी, 28 अक्टूबर, 2019 (डब्ल्यूएएम) -- यूएई फतवा काउंसिल के चेयरमैन शेख अब्दुल्ला बिन बेयाह ने कैथोलिक चर्च के प्रमुख पोप फ्रांसिस के साथ आज मुलाकात की है। साथ ही उन्होंने पोप फ्रांसिस को अबू धाबी के क्राउन प्रिंस और यूएई सशस्त्र बलों के उप सुप्रीम कमांडर हिज हाइनेस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान की तरफ से भेजी गई बधाई व शुभकामनाओं से अवगत कराया। यह बैठक वेटिकन सिटी के अपोस्टोलिक पैलेस में हुई, जहां अब्राहमिक धर्म के प्रतिनिधियों ने सोमवार को इच्छामृत्यु व आत्महत्या की निंदा की। साथ ही सभी जगह और सभी के लिएदेखभाल को प्रोत्साहित करने पर बल दिया। उन्होंने कहा, "हम इच्छामृत्यु के रूप का विरोध करते हैं - यह प्रत्यक्ष, जानबूझकर जीवन लेना है। साथ ही यह आत्महत्या का प्रत्यक्ष व जानबूझकर समर्थन है। यह स्वाभाविक रूप से, धार्मिक रूप से, नैतिक रूप से गलत हैं। इसे बिना किसी अपवाद के मना किया जाना चाहिए।"

सभा को संबोधित करते हुए, शेख अब्दुल्ला बिन बेयाह ने जोर देकर कहा कि बैठक अच्छाई और पवित्रता में सहयोग सुनिश्चित करने के प्रयासों के साथ होती है। उन्होंने जोड़ा कि शरीर का संरक्षण इस्लामी कानून का एक प्रमुख उद्देश्य है जो समग्र और सम्मान सुनिश्चित करने के महत्व को रेखांकित करता है। उन्होंने कहा, "हमारी बैठक आज संयुक्त धार्मिक कार्रवाई के दौरान एक नए कदम का प्रतिनिधित्व करती है।"

उन्होंने कहा कि संयुक्त अरब अमीरात हमेशा अब्राहमिक परिवार के सामान्य मूल्यों और सह-अस्तित्व को प्रोत्साहित करने वाले अन्य सभी महान मानवीय सिद्धांतों को बनाए रखने का प्रयास करता है। बिन बेयाह ने कहा कि ये प्रयास संयुक्त अरब अमीरात में सहिष्णुता के वर्ष के अनुरूप है, जब परम पावन फ्रांसिस की यात्रा और अल अजहर ग्रैंड मस्जिद के इमाम डॉ. शेख अहमद अल तैयब के नेतृत्व में, तथा हिज हाइनेस शेख मोहम्मद बिन जायद के संरक्षण में मानवतावादी भाईचारे के दस्तावेज पर हस्ताक्षर किए गए थे। अनुवादः एस कुमार.

https://wam.ae/en/details/1395302798277

WAM/Hindi