जीसीसी अक्षय ऊर्जा अपनाकर 2030 तक 76 बिलियन डॉलर की बचत करेगा


अबू धाबी, 4 नवंबर 2019 (डब्ल्यूएएम) -- इंटरनेशनल रिन्यूएबल एनर्जी एजेंसी (आईआरईएनए) के साथ जीसीसी अक्षय ऊर्जा अपनाकर 2030 तक 76 बिलियन डॉलर की बचत करने जा रहा है। आईआरईएनए ने बताया कि जीसीसी की स्थापित बिजली क्षमता 2014 और 2017 के बीच चार गुना बढ़ी है। यूएई जहां पहले से ही जीसीसी की स्थापित अक्षय ऊर्जा क्षमता का 68 फीसदी हिस्सा है। यह 2050 तक इसके दीर्घकालिक ऊर्जा रणनीति के अनुरूप नवीकरणीय ऊर्जा से 50 फीसदी बिजली उत्पन्न करने की उम्मीद करता है। वर्ल्ड फ्यूचर एनर्जी समिट का एनर्जी एक्सपो एंड फोरम इस क्षेत्र की महत्वाकांक्षाओं को वैश्विक मंच से जोड़ता है, जिसकी मेजबानी अबू धाबी सस्टेनेबिलिटी वीक के रूप में 13 से16 जनवरी, 2020 तक मसदर द्वारा की जाएगी। वर्ल्ड फ्यूचर एनर्जी समिट के ग्रुप इवेंट डायरेक्टर ग्रांट टचेन ने कहा, "एनर्जी एक्सपो एंड फोरम नवीकरणीय ऊर्जा को अपनाने और सौर पीवी पैनल और पवन टर्बाइन से लेकर हाइड्रोजन ईंधन सेल्स और अपशिष्ट-से-ऊर्जा समाधान तक के नवाचारों का सहयोग करने के लिए एक अनूठा मंच प्रदान करता है।"

टचेन ने कहा, "यह आयोजन वैश्विक ऊर्जा दिग्गजों को तेजी से विस्तार करने वाले बाजारों से जोड़ता है। हमारा मंच नवीनतम विकास के बारे में ज्ञान और सर्वोत्तम प्रथाओं को साझा करने का एक अवसर है, जिसमें ऊर्जा भंडारण, स्मार्ट ग्रिड, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और ब्लॉकचेन और स्थिरता में गर्म विषयों के एक मेजबान शामिल हैं।"

फोरम का उद्देश्य सरकारों, ऊर्जा कंपनियों, उपयोगिताओं प्रदाताओं, परमाणु एजेंसियों और स्वतंत्र बिजली प्रदाताओं के लिए एक वैश्विक बैठक बिंदु प्रदान करना है। साथ ही नई सोच और प्रौद्योगिकियों को साझा करना, जो वैश्विक स्तर पर स्वच्छ ऊर्जा के लिए तेजी से महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। अबू धाबी सस्टेनेबिलिटी वीक के मेजबान मसदर में क्लीन एनर्जी के कार्यवाहक कार्यकारी निदेशक यूसुफ अल अली ने इस बात पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा, "एनर्जी एक्सपो एंड फोरम नवीकरणीय ऊर्जा परियोजनाओं, प्रौद्योगिकियों और अभिनव समाधानों के लिए एक बहुत ही मूल्यवान फोरम है।"

एनर्जी फोरम में सौर ऊर्जा के लिए वित्तपोषण, अक्षय ऊर्जा और ऊर्जा भंडारण में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और ब्लॉकचेन की भूमिका, जीसीसी रोडमैप, आईआरईएनए अनुसंधान और अगली पीढ़ी के केंद्रित सौर ऊर्जा संयंत्रों की रूपरेखा के लिए विषयों को शामिल किया गया है। अनुवादः एस कुमार.

http://www.wam.ae/en/details/1395302799991

WAM/Hindi