शुक्रवार 03 जुलाई 2020 - 5:10:01 पीएम

भारत के 5 ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था लक्ष्य को पूरा करने में द्विपक्षीय संबंधों की महत्वपूर्ण भूमिकाः यूएई अधिकारी


दुबई, 6 नवंबर, 2019 (डब्ल्यूएएम) -- यूएई-इंडिया इकोनॉमिक फोरम का पांचवा संस्करण हाल ही में दुबई के अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय केंद्र वाल्डोर्फ एस्टोरिया में हुआ, जिसमें उच्च गणमान्य व्यक्ति और अधिकारी, प्रमुख विशेषज्ञ और दोनों राष्ट्रों के नेता शामिल हुए। अर्थव्यवस्था मंत्रालय में विदेश व्यापार और उद्योग मामलों के अंडर सेक्रेटरी अब्दुल्ला अहमद अल सालेह ने कहा कि यूएई भारत की साझेदारी में 2022 तक इसके 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने के महत्वाकांक्षी लक्ष्य की दिशा में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए तैयार है। बिजनेसलाइव मिडिल ईस्ट द्वारा आयोजित फोरम के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए अल सालेह ने कहा कि मजबूत द्विपक्षीय संबंध इस बात का संकेत है कि दोनों सरकारें आपसी फायदे के लिए साथ मिलकर काम कर रहे हैं। अल सालेह ने कहा कि यूएई-भारत उच्च स्तरीय संयुक्त कार्य बल की हालिया बैठक, जो भविष्य के लिए आपसी आवश्यकताओं और दूरदर्शिता को संप्रेषित करने का एक मंच है, ने द्विपक्षीय निवेश और सहयोग को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उन्होंने कहा, "एक्सपो 2020 में भारत का एक बड़ा पैवेलियन होगा।"

अल सालेह ने कहा कि यूएई भारत का सबसे बड़ा अरब निवेशक देश है, जिसका कुल अरब निवेश का 81.2 फीसदी है। भारत की 2.8 ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था में यूएई का निवेश लगभग 10 बिलियन डॉलर है, जिसमें लगभग 5 बिलियन डॉलर का प्रत्यक्ष विदेशी निवेश शामिल है। उन्होंने कहा, "यूएई विदेशों में सबसे बड़े भारतीय समुदाय की मेजबानी करता है। यहां से करीब 17 बिलियन डॉलर से अधिक बाहर जाते हैं, जो कुल बहिर्वाह का 38 फीसदी है।"

अनुवादः एस कुमार.

http://wam.ae/en/details/1395302800483

WAM/Hindi