स्मरणोत्सव दिवस बलिदान के मूल्यों को जन्म देता है: उम्म अल क़ायैन के शासक


उम्म अल क्वायन, 29 नवंबर, 2019 (डब्ल्यूएएम) -- सुप्रीम काउंसिल के सदस्य और उम्म अल क्वायन के शासक हिज हाइनेस शेख सऊद बिन राशिद अल मुल्ला ने कहा कि स्मरणोत्सव दिवस मातृभूमि के लिए बलिदान और प्यार के मूल्यों को दर्शाता है। साथ ही यह अवसर देश के सभी नायकों के लिए एक श्रद्धांजलि है। इस अवसर पर नेशन शील्ड को दिए एक बयान में शेख सऊद ने कहा कि यह अवसर यूएई के लोगों के लिए एक महत्वपूर्ण अर्थ रखता है, क्योंकि 30 नवंबर वह दिन था जब 1971 में अपने देश की रक्षा करते हुए प्रथम अमीराती शहीद सलेम सुहेल बिन खामिस अल दहमानी की जान चली गई थी। हिज हाइनेस शेख सऊद ने उल्लेख किया कि राष्ट्रीय सामंजस्य राष्ट्र के निर्माण और इसके लाभ को संरक्षित करने और अपने सामाजिक ताने-बाने के साथ संस्थापक पिताओं द्वारा निष्ठा संस्कृति को मजबूत करने में एकीकरण और प्रभावी भागीदारी के सही अर्थ का प्रतिनिधित्व करता है। शेख सऊद ने कहा, "यह हमारे लिए गर्व की बात है कि हम मातृभूमि के शहीदों के सम्मान और उनके बलिदान व देशभक्ति के कृत्यों की सराहना करते हैं क्योंकि वे राष्ट्रीय एकता और अपनेपन के अमर उदाहरण का प्रतिनिधित्व करते हैं।"

उम्म अल क्वायन के शासक ने कहा कि स्मारक दिवस देश के गौरव, संपत्ति और लाभ की रक्षा के लिए शहीदों द्वारा दी गई बलिदान को मनाने का एक अवसर है। शासक ने अल्लाह से प्रार्थना की कि वह उनकी आत्मा को शांति दे, और उनके परिवार को धैर्य और सांत्वना दें। अनुवादः एस कुमार.

http://wam.ae/en/details/1395302807050

WAM/Hindi