सोमवार 28 सितम्बर 2020 - 9:50:20 पीएम

यूएई सहिष्णुता, सह-अस्तित्व, शांति का रोल मॉडल है: पोप फ्रांसिस

  • البابا فرنسيس: الإمارات نموذج في إرساء التسامح و التعايش و السلام
  • البابا فرنسيس: الإمارات نموذج في إرساء التسامح و التعايش و السلام
  • البابا فرنسيس: الإمارات نموذج في إرساء التسامح و التعايش و السلام

वेटिकन, 7 दिसंबर, 2019 (डब्ल्यूएएम) -- कैथोलिक चर्च के प्रमुख पोप फ्रांसिस ने यूएई के दृष्टिकोण की प्रशंसा की है साथ ही कहा है कि यह देश सहिष्णुता, सह-अस्तित्व और शांति का रोल मॉडल है। यूएई प्रतिनिधिमंडल की अगवानी करते समय पोप फ्रांसिस ने कहा कि उनके पास पिछले फरवरी में देश की अपनी यात्रा की अच्छी यादें हैं। इस प्रतिनिधिमंडल में मैड्रिड में अमीराती दूतावास के सदस्य और अमीरात सेंटर फॉर स्ट्रैटेजिक स्टडीज़ एंड रिसर्च (ईसीएसएसआर) के टॉलरेंस एंड कोएक्सिस्टेंस ट्रेनिंग प्रोग्राम के सदस्य शामिल थे। उन्होंने कहा कि यूएई सह-अस्तित्व और मानव बिरादरी के लिए एक आदर्श है और विभिन्न सभ्यताओं व संस्कृतियों के बीच एक मिलन स्थल का प्रतिनिधित्व करता है। उन्होंने कहा कि दुनिया में शांति, सहिष्णुता और सह-अस्तित्व की संस्कृति को फैलाने व स्थापित करने और विभिन्न धर्मों व संस्कृतियों के बीच संचार के पुलों के निर्माण के लिए वह तत्पर हैं। प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों ने हिज होलीनेस पोप फ्रांसिस को उनकी मेजबानी के लिए धन्यवाद दिया। मैड्रिड में यूएई के दूतावास में आर्थिक, राजनीतिक और मीडिया मामलों के अनुभाग की प्रमुख सारा अल महरी ने उन्हें राष्ट्रपति हिज हाइनेस शेख खलीफा बिन जायद अल नहयान; उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और दुबई के शासक हिज हाइनेस शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम और अबू धाबी के क्राउन प्रिंस और यूएई सशस्त्र बलों के उप सर्वोच्च कमांडर हिज हाइनेस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नहयान, सुप्रीम काउंसिल के सदस्य, अमीरात के शासक के संबंध में उन्हें अवगत कराया। उन्होंने सहिष्णुता के मूल्यों को मजबूत करने व संवाद, दूसरों की स्वीकृति व स्थानीय, क्षेत्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न संस्कृतियों के लिए खुलेपन को बढ़ावा देने और अमीराती संगठनों के प्रयासों को मजबूत करने में यूएई की महत्वपूर्ण भूमिका के बारे में भी बात की। अनुवादः एस कुमार.

http://wam.ae/en/details/1395302808592

WAM/Hindi