आईआरईएनए और यूएन-हैबिटेट शहरों में वैश्विक ऊर्जा परिवर्तन में तेजी लाने के प्रयासों में शामिल

  • موئل الأمم المتحدة و"آيرينا" يتفقان على نشر التحول للطاقة المتجددة
  • موئل الأمم المتحدة و"آيرينا" يتفقان على نشر التحول للطاقة المتجددة

अबू धाबी, 12 फरवरी, 2020 (डब्ल्यूएएम) -- इंटरनेशनल रिन्यूएबल एनर्जी एजेंसी (आईआरईएनए) ने शहरी विकास के संदर्भ में सतत ऊर्जा पर सहयोग करने के लिए संयुक्त राष्ट्र मानव बस्तियों के कार्यक्रम, यूएन-हैबिटेट के साथ समझौता ज्ञापन पर आज हस्ताक्षर किए। आईआरईएनए के अध्ययनों से पता चलता है कि वैश्विक ऊर्जा मांग के 65 फीसदी के लिए शहर जिम्मेदार हैं और जलवायु परिवर्तन डेटा पर इंटरगवर्नमेंटल पैनल शहरों को 71-76 फीसदी ऊर्जा से संबंधित कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन के लिए जिम्मेदार हैं। इस प्रकार नगरपालिका सरकारों का ऊर्जा परिवर्तन के क्षेत्र में सहयोग में उच्च-स्तरीय सहयोग महत्वपूर्ण है। अबू धाबी में वर्ल्ड अर्बन फोरम (डब्ल्यूयूएफ10) के दसवें सत्र के दौरान आईआरईएनए के महानिदेशक फ्रांसेस्को ला कैमरा और यूएन-हैबिटेट के उप-कार्यकारी निदेशक विक्टर किसोब द्वारा हस्ताक्षर किए गए, समझौता ज्ञापन दोनों संगठनों को क्लीनर, लो-कार्बन शहरीकरण को बढ़ावा देने के लिए वैश्विक ऊर्जा परिवर्तन में शहरों की भूमिका को आगे बढ़ाने के लिए काम करेगा। आईआरईएनए के महानिदेशक फ्रांसेस्को ला कैमरा ने कहा, "शहर आधुनिक आर्थिक विकास के इंजन हैं, समृद्धि और अवसर का सृजन करते हैं और महत्वपूर्ण ऊर्जा मांगों और कार्बन उत्सर्जन के स्रोत भी हैं। जलवायु और सतत विकास लक्ष्यों की खोज में नगरपालिका सरकारों के पास नीतिगत ढांचे को मजबूत करने का एक अवसर है जो शहरों को अक्षय ऊर्जा उपयोग में स्थानांतरित करने में मदद कर सकता है। शहर वैश्विक ऊर्जा परिवर्तन उद्देश्यों की प्राप्ति में महत्वपूर्ण योगदान दे सकते हैं और यह साझेदारी उस प्रक्रिया को तेज करने में मदद करेगी।"

अनुवादः एस कुमार.

http://www.wam.ae/en/details/1395302823521

WAM/Hindi