यूएई ने यूनेस्को के वैश्विक एंटी-डोपिंग प्रयासों का नेतृत्व किया


पेरिस, 21 फरवरी, 2020 (डब्ल्यूएएम) -- यूएई की उम्मीदवार डॉ. रीमा अल होसानी को खेल में डोपिंग उन्मूलन के लिए यूनेस्को के कोष की अध्यक्ष चुना गया है, जो 2008 में अपनी स्थापना के बाद निधि का नेतृत्व करने वाली पहली महिला बन गई हैं। राष्ट्र की ऐतिहासिक जीत पर बात करते हुए संस्कृति और ज्ञान विकास मंत्री और यूएई राष्ट्रीय शिक्षा, विज्ञान और संस्कृति आयोग के अध्यक्ष नूरा बिन मोहम्मद अल काबी ने कहा, ''यह जीत यूएई के प्रयासों और ऐनबालिक स्टेरॉयड के उन्मूलन में उल्लेखनीय उपलब्धियों के साथ प्रदर्शन बढ़ाने वाली दवाओं के जोखिम के खिलाफ युवा एथलीटों को शिक्षित करके फंड के उद्देश्यों को पूरा करने के लिए अन्य राज्य दलों के साथ काम करने और सहयोग करने की इसकी क्षमता में अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के विश्वास का एक वोट है।'' डॉ. अल होसानी 2018 से यूएई की राष्ट्रीय डोपिंग रोधी समिति के अध्यक्ष हैं। वह 2004 में अबू धाबी पुलिस की चिकित्सा सेवाओं में शामिल हुईं। यूनेस्को ने सरकारी क्षमता का सहयोग करने, जरूरतों का जायजा लेने और राष्ट्रीय व क्षेत्रीय स्तर पर धन जुटाकर खेल में डोपिंग के खिलाफ लड़ाई लड़ी है।"

खेल में डोपिंग के उन्मूलन के लिए कोष की स्थापना 2008 में डोपिंग के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन में राज्यों की पार्टियों की सहायता के लिए की गई थी, जो डोपिंग रोधी परियोजनाओं को विकसित और कार्यान्वित करती है। व्यावहारिक और तकनीकी सहायता प्रदान करते हुए फंड में युवाओं और खेल संगठनों, नीति सलाह और सलाह व क्षमता निर्माण परियोजनाओं पर ध्यान केंद्रित करने वाली तीन प्राथमिकताएं शिक्षा परियोजनाएं हैं। फंड ने दुनिया भर में 218 से अधिक परियोजनाओं का सहयोग किया है। अनुवादः एस कुमार.

http://www.wam.ae/en/details/1395302825703

WAM/Hindi