70 और 80 के दशक में यूएई में कोरियाई श्रमिकों के प्रेषण ने हमारे विकास को बढ़ावा दिया: सियोल अधिकारी


अबू धाबी, 5 मार्च, 2020 (डब्ल्यूएएम) -- एक वरिष्ठ कोरियाई अधिकारी के अनुसार, यूएई में 1970 और 1980 के दशक में कोरियाई निर्माण श्रमिकों और इंजीनियरों के प्रेषण ने दक्षिण कोरिया के तेजी से विकास में योगदान दिया। सियोल मेट्रोपॉलिटन सरकार में शहरी विकास उप महापौर मेंग हून कांग ने कहा, "हमने अपने प्रेषण से अपने देश के विकास के लिए निवेश पूंजी अर्जित की।"

अमीरात समाचार एजेंसी (डब्ल्यूएएम) के साथ एक साक्षात्कार में उन्होंने कहा कि जैसे-जैसे कोरियाई अर्थव्यवस्था बढ़ने लगी, श्रमिकों का प्रवाह 1980 के दशक के मध्य तक बढ़ गया और तब से केवल इंजीनियर ही यूएई में आ रहे थे। दक्षिण कोरिया आज दुनिया की 12वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था और एशिया की चौथी सबसे बड़ी है। यूएई के फेडरल अथॉरिटी फॉर न्यूक्लियर रेगुलेशन (एफएएनआर) ने सोमवार को घोषणा किया है कि उसने परमाणु ईंधन असेंबलियों को बिजली संयंत्र की इकाई 1 में लोड करने की देखरेख की थी। इस विकास के साथ यूएई आधिकारिक रूप से अरब विश्व में पहला परमाणु ऊर्जा परिचालन देश बन गया है। डिप्टी मेयर ने कहा कि कोरियन इंजीनियर दुबई और अबू धाबी में बुर्ज खलीफा सहित प्रमुख स्थलों के निर्माण में भी शामिल थे। अनुवादः एस कुमार.

http://wam.ae/en/details/1395302828806

WAM/Hindi