गुरुवार 06 अगस्त 2020 - 5:52:23 एएम

अब्दुल्ला बिन जायद ने द्वितीय जी20 संचालन समिति की बैठक की अध्यक्षता की

  • اللجنة التوجيهية تناقش أولويات مشاركة الدولة في مجموعة العشرين خلال المرحلة القادمة
  • اللجنة التوجيهية تناقش أولويات مشاركة الدولة في مجموعة العشرين خلال المرحلة القادمة

अबू धाबी, 21 जुलाई, 2020 (डब्ल्यूएएम) -- विदेश और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग मंत्री हिज हाइनेस शेख अब्दुल्ला बिन जायद अल नहयान ने यूएई के समग्र सुधार के दृष्टिकोण की समीक्षा करने के लिए दूसरी जी20 संचालन समिति की बैठक की अध्यक्षता की है। इसमें कोविड-19 महामारी और जी20 प्रक्रिया पर इसके प्रभाव को ध्यान में रखा गया। 21 और 22 नवंबर 2020 को सऊदी अरब के रियाध में होने वाले ग्रुप ऑफ 20 (जी20) शिखर सम्मेलन में आमंत्रित अतिथि के रूप में यूएई की प्राथमिकताओं और उद्देश्यों की भी समीक्षा की गई। हिज हाइनेस शेख अब्दुल्ला बिन जायद ने बैठक में देश की भागीदारी के महत्व पर जोर दिया। उन्होंने उल्लेख किया कि यह दूसरी भागीदारी कोविड-19 महामारी के वैश्विक प्रभाव के कारण अधिक महत्व प्राप्त करती है। उन्होंने कहा, "पिछले मार्च में आयोजित जी20 शिखर सम्मेलन में अबू धाबी के क्राउन प्रिंस और यूएई सशस्त्र बलों के उप सर्वोच्च कमांडर हिज हाइनेस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नहयान की भागीदारी इस इवेंट के महत्व और प्रज्ञ नेतृत्व द्वारा दी गई प्राथमिकता को दर्शाता है।"

शेख अब्दुल्ला ने कहा, "इस अवसर पर मैं मंत्रिमंडल के उन सदस्यों का स्वागत करना चाहता हूं, जिन्हें उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और दुबई के शासक हिज हाइनेस शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम का विश्वास प्राप्त है।'' उन्होंने सहयोग के लिए सऊदी अरब और जी20 शिखर सम्मेलन में अतिथि आमंत्रित के रूप में यूएई की भागीदारी पर उसकी रुचि के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा, "इस सदस्यता के माध्यम से हम कई क्षेत्रों में अपने अनुभव व ज्ञान को बढ़ाने और देश के विश्वास, सराहना और अंतर्राष्ट्रीय सम्मान को बढ़ाने के लिए तत्पर हैं।"

इसमें कैबिनेट सदस्य और अर्थव्यवस्था मंत्री अब्दुल्ला बिन तौक अल मैरिज; स्वास्थ्य और रोकथाम मंत्री अब्दुल रहमान बिन मोहम्मद बिन नासिर अल ओवैस; वित्तीय मामलों के राज्यमंत्री ओबैद बिन हमैद अल टायर; अंतर्राष्ट्रीय सहयोग राज्य मंत्री रीम बिंत इब्राहिम अल हशेमी; ऊर्जा और बुनियादी ढांचा मंत्री सुहेल बिन मोहम्मद अल मजरूई; शिक्षा मंत्री हुसैन बिन इब्राहिम अल हम्मादी; जलवायु परिवर्तन और पर्यावरण मंत्री डॉ. अब्दुल्ला बेलहाफ अल नूमी; विदेश व्यापार राज्य मंत्री डॉ. थानी बिन अहमद अल जायोदी; मानव संसाधन और अमीरात के मंत्री नासिर बिन थानी अल हमली; उद्योग और उन्नत प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. सुल्तान बिन अहमद अल जाबेर; खाद्य सुरक्षा राज्य मंत्री मरियम हरेब अल्महेरी; आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, डिजिटल इकॉनमी और टेलीकॉम अनुप्रयोग राज्य मंत्री उमर बिन सुल्तान अल ओलमा; राज्य मंत्री अहमद अली अल सईघ शामिल थे। इस बैठक में जी20 शिखर सम्मेलन में यूएई की भागीदारी के लिए अद्यतन रणनीति पर चर्चा की गई। राज्य मंत्री और जी20 के लिए यूएई शेरपा अहमद बिन अली अल सईघ ने कहा, "कोविड-19 महामारी ने जी20 की गतिविधियों को काफी प्रभावित किया है। इसमें महामारी पर वैश्विक प्रतिक्रिया पर चर्चा करने के लिए कई असाधारण बैठकें हुई हैं, विशेष रूप से असाधारण नेताओं के शिखर सम्मेलन में मार्च 2020 में अबू धाबी के क्राउन प्रिंस और यूएई सशस्त्र बलों के उप सर्वोच्च कमांडर हिज हाइनेस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान ने भाग लिया।"

बैठक के दौरान, मंत्रियों ने कोविड-19 को वैश्विक रूप से समन्वित प्रतिक्रिया देने के लिए सऊदी अरब के सराहनीय प्रयासों पर विचार किया और सहमति व्यक्त की कि कोविड-19 महामारी के वैश्विक आर्थिक प्रणाली में व्यवधान के संदर्भ में जी20 शिखर सम्मेलन के विषयों और उद्देश्यों पर प्रगति हासिल करना पहले से कहीं अधिक महत्वपूर्ण है। उन्हें यूएई की जी20 प्रक्रिया में शेरपा और वित्त ट्रैक्स में अब तक की भागीदारी के प्रभाव के बारे में बताया गया। मंत्रियों ने आगे उन तरीकों पर चर्चा की, जिनमें यूएई जी20 प्रक्रिया पर अपना प्रभाव बढ़ा सकता है। साथ ही यह सुनिश्चित कर सकता है कि यूएई लीडर्स समिट में जीसीसी, छोटे और कम प्रतिनिधित्व वाले देशों का प्रतिनिधित्व करने के अपने उद्देश्य को पूरा कर सके। अनुवादः एस कुमार.

http://www.wam.ae/en/details/1395302856854

WAM/Hindi