शनिवार 26 सितम्बर 2020 - 2:31:38 एएम

बेलहैफ अल नूमी ने पर्यावरण मामलों के लिए जिम्मेदार मंत्रियों की जीसीसी समिति की 22वीं वर्चुअल बैठक की अध्यक्षता की

  • بلحيف النعيمي يترأس الاجتماع الـ 22 لمجلس الوزراء المسؤولين عن شؤون البيئة بدول التعاون
  • بلحيف النعيمي يترأس الاجتماع الـ 22 لمجلس الوزراء المسؤولين عن شؤون البيئة بدول التعاون

दुबई, 8 सितंबर, 2020 (डब्ल्यूएएम) -- यूएई ने मिनिस्ट्री ऑफ क्लाइमेट चेंज एंड एनवायरनमेंट (एमओसीसीएई) द्वारा प्रस्तुत पर्यावरण मामलों के लिए जिम्मेदार मंत्रियों की जीसीसी समिति की 22वीं वर्चुअल बैठक की मेजबानी की। जलवायु परिवर्तन और पर्यावरण मंत्री डॉ. अब्दुल्ला बेलहैफ अल नूमी ने जीसीसी क्षेत्र से पर्यावरण मंत्रियों की भागीदारी को बढ़ाने वाली सभा की अध्यक्षता की। उपस्थित लोगों ने ''जीसीसी देशों के लिए पर्यावरण दिशा-निर्देश 2020: वर्तमान पर्यावरणीय परिस्थितियों के लिए आवश्यकताएं'' को अपनाने पर चर्चा की। उन्होंने जीसीसी सुप्रीम काउंसिल के सलाहकार बोर्ड की रिपोर्ट की सिफारिशों के अनुरूप क्षेत्र के देशों के बीच पर्यावरण सहयोग के लिए एक व्यापक रणनीति के कार्यान्वयन के साथ ही कोविड-19 महामारी से निपटने में जीसीसी सदस्य देशों के प्रयासों पर सामान्य सचिवालय की रिपोर्ट की भी समीक्षा की। अन्य विषयों में समिति की रणनीतिक योजना, संयुक्त राष्ट्र यूएन एनवायरनमेंट प्रोग्राम (यूएनईपी) के साथ सहयोग समझौते के साथ गठबंधन किए गए उपक्रमों की प्रगति, जीसीसी पर्यावरणीय ई-पोर्टल के अपडेट साथ ही अंतर्राष्ट्रीय प्रयासों और रणनीतिक संवाद शामिल हैं। इसके अलावा, प्रतिभागियों ने रणनीति उप-समितियों, जीसीसी ओजोन वर्किंग ग्रुप की बैठकों और जीसीसी के देशों में वन्यजीवों के संरक्षण और उनके प्राकृतिक आवास पर कन्वेंशन के लिए स्थायी समिति की 18वीं बैठक के परिणामों की जांच की। डॉ. अल नूमी ने अपनी बात में जोर देकर कहा कि यह बैठक असाधारण परिस्थितियों में हो रही है, जिसने जीसीसी के सदस्य देशों के बीच समन्वय और सहयोग को नया महत्व दिया है। उन्होंने सभी आर्थिक सुधार योजनाओं में पर्यावरण और जलवायु पहलुओं को शामिल करने और उन्हें हरित योजनाओं में बदलने की आवश्यकता पर प्रकाश डाला। मंत्री ने कहा कि चार दशक पहले अबू धाबी में शुरू हुई साझेदारी की यात्रा के परिणामस्वरूप जीसीसी क्षेत्र में कई पर्यावरणीय उपलब्धियां प्राप्त हुई और परिषद की उपस्थिति को अंतरराष्ट्रीय मंचों पर एक सक्रिय इकाई के रूप में मजबूत किया। उन्होंने सतत विकास को प्राप्त करने और क्षेत्र व बाकी दुनिया के लिए एक बेहतर भविष्य का निर्माण करने के लिए अपने प्रज्ञ नेतृत्व के निर्देशों के अनुसार जीसीसी सदस्य देशों के बीच सहयोग बढ़ाने का आह्वान किया। अनुवादः एस कुमार.

http://wam.ae/en/details/1395302868339

WAM/Hindi