सोमवार 08 अगस्त 2022 - 6:20:12 पीएम

जीसीसी, अमेरिका ने संयुक्त बयान जारी किया


जेद्दा, 16 जुलाई, 2022 (डब्ल्यूएएम) -- सऊदी प्रेस एजेंसी (एसपीए) की रिपोर्ट के अनुसार, "जेद्दा सुरक्षा और विकास शिखर सम्मेलन" के बाद गल्फ कोऑपरेशन काउंसिल (जीसीसी) के सदस्य देशों और अमेरिका (यूएस) के नेताओं ने एक संयुक्त बयान जारी किया है। बयान में जीसीसी नेताओं और अमेरिका के बीच रक्षा, सुरक्षा और खुफिया सहयोग बढ़ाने के साथ क्षेत्रीय तनाव को कम करने के लिए सभी राजनयिक प्रयासों का सहयोग करने के समझौते को रेखांकित किया गया। आज जारी संयुक्त बयान इस प्रकार है: "दो पवित्र मस्जिदों के अभिरक्षक के निमंत्रण पर सऊदी अरब के King Salman bin Abdulaziz Al Saud, खाड़ी सहयोग परिषद (जीसीसी) के सदस्य देशों और अमेरिका के नेताओं ने आज सऊदी अरब के जेद्दा में मुलाकात की। नेताओं ने 14 मई, 2015 को कैंप डेविड में और 21 अप्रैल, 2016 और 21 मई, 2017 को रियाद में आयोजित पिछले यूएस-जीसीसी शिखर सम्मेलनों का उल्लेख किया। नेताओं ने अपने देशों के बीच ऐतिहासिक संबंधों के रणनीतिक महत्व और सभी क्षेत्रों में सहयोग, समन्वय और परामर्श को मजबूत करने के लिए पिछले शिखर सम्मेलन की उपलब्धियों पर निर्माण करने के लिए अपनी साझा प्रतिबद्धता की पुष्टि की। नेताओं ने वैश्विक आर्थिक सुधार के प्रयासों को बढ़ावा देने, महामारी और यूक्रेन में युद्ध के कारण होने वाले आर्थिक नतीजों को संबोधित करने, आपूर्ति श्रृंखलाओं की लचीलापन और खाद्य व ऊर्जा आपूर्ति की सुरक्षा सुनिश्चित करने, स्वच्छ ऊर्जा स्रोतों और प्रौद्योगिकियों का विकास करने और जरूरतमंद देशों को उनकी मानवीय व राहत जरूरतों को पूरा करने में मदद करने के लिए संयुक्त सहयोग के लिए अपनी प्रतिबद्धता की पुष्टि की। अमेरिका ने क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खाद्य सुरक्षा चुनौतियों के जवाब में कम से कम 10 बिलियन डॉलर प्रदान करने के अरब समन्वय समूह (एसीजी) के फैसले का स्वागत किया। नेताओं ने मध्य पूर्व और उत्तरी अफ्रीका (MENA) क्षेत्र के लिए निकट और दीर्घकालिक खाद्य सुरक्षा सहायता में 1 बिलियन डॉलर की घोषणा का भी स्वागत किया। नेताओं ने उपभोक्ताओं, उत्पादकों के हितों में वैश्विक तेल बाजार को स्थिर करने और आर्थिक विकास का सहयोग करने की दिशा में ओपेक+ के चल रहे प्रयासों को मान्यता दी और ओपेक+ के सदस्यों द्वारा जुलाई व अगस्त के दौरान आपूर्ति बढ़ाने की हालिया घोषणा का स्वागत किया और ओपेक+ के सदस्यों के बीच आम सहमति प्राप्त करने में सऊदी अरब की अग्रणी भूमिका की प्रशंसा की। राष्ट्रपति Biden ने जलवायु और ऊर्जा सुरक्षा व डिजिटल कनेक्टिविटी को आगे बढ़ाने वाली परियोजनाओं में निवेश के माध्यम से कम व मध्यम आय वाले देशों में बुनियादी ढांचा परियोजनाओं में 3 बिलियन डॉलर का निवेश करने की कुछ जीसीसी देशों की योजना की प्रशंसा की और यह वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला को मजबूत और विविधता प्रदान करती है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने पूर्वी जेरूसलम अस्पताल नेटवर्क के लिए 100 मिलियन डॉलर प्रदान करने की जीसीसी देशों की प्रतिज्ञा की प्रशंसा की, जो वेस्ट बैंक, गाजा और पूर्वी यरुशलम में फिलिस्तीनियों को जीवन रक्षक स्वास्थ्य सेवा प्रदान करता है। नेताओं ने क्षेत्रीय सुरक्षा और स्थिरता को बनाए रखने, क्षेत्रीय डी-एस्केलेशन के उद्देश्य से कूटनीति का सहयोग करने, अपने क्षेत्र-व्यापी रक्षा, सुरक्षा और खुफिया सहयोग को गहरा करने और जलमार्गों की स्वतंत्रता व सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अपनी संयुक्त प्रतिबद्धता की पुष्टि की। नेताओं ने क्षेत्र और इसके जलमार्गों की सुरक्षा व स्थिरता को बढ़ावा देने के लिए जीसीसी सदस्य देशों और अमेरिका के बीच चल रहे सहयोग की प्रशंसा की। नेताओं ने अपने संयुक्त सहयोग को बढ़ाने के विभिन्न तरीकों पर चर्चा की। नेताओं ने संयुक्त टास्क फोर्स 153 और टास्क फोर्स 59 की स्थापना का स्वागत किया, जो नई तकनीकों और प्रणालियों का उपयोग करके समुद्री खतरों की बेहतर निगरानी और नौसैनिक सुरक्षा में सुधार के लिए जीसीसी सदस्य देशों और अमेरिकी मध्य कमान के बीच संयुक्त रक्षा समन्वय को बढ़ाएगा। नेताओं ने यूएस-जीसीसी शिखर सम्मेलन को सालाना आयोजित करने के लिए अपनी उत्सुकता की पुष्टि की।"

अनुवाद - एस कुमार.

http://wam.ae/en/details/1395303066675

WAM/Hindi