सोमवार 10 मई 2021 - 11:59:42 एएम

अरब वर्ल्ड की पहली इलेक्ट्रोमैग्नेटिक कंपैटिबिलिटी लैब्स का अबू धाबी में अनावरण किया गया


अबू धाबी, 3 मई, 2021 (डब्ल्यूएएम) -- टेक्नोलॉजी इनोवेशन इंस्टिट्यूट (टीआईआई) ने आज घोषणा किया कि उसके डिरेक्टेड एनर्जी रिसर्च सेंटर (डीईआरसी) ने अबू धाबी में अपनी इलेक्ट्रोमैग्नेटिक कम्पेटिबिलिटी (ईएमसी) प्रयोगशालाओं का अनावरण किया है, जो अरब दुनिया में अपनी तरह की पहली फैसिलिटी है। यह फैसिलिटी तीन प्रयोगशालाओं एक ईएमसी सेमी-अनचोईस चैम्बर, एक स्पंदित शक्ति प्रयोगशाला और एक लौ-नॉइज़ उत्सर्जन प्रयोगशाला से बना है। डीईआरसी फैसिलिटी पुलसीद पावर और सेमी-अनचोईस चैंबर्स में मानव निर्मित और प्राकृतिक विद्युत चुम्बकीय खतरों को पुन: प्रस्तुत करके विद्युत चुम्बकीय संगतता और हस्तक्षेप के खिलाफ महत्वपूर्ण प्रौद्योगिकियों का मूल्यांकन करने में सक्षम बनाती है। दोनों कक्षों के बीच सीधा संबंध 100 केवी नैनो सेकंड दालों और मल्टी-मेगावॉट माइक्रोवेव सिस्टम सहित विभिन्न प्रयोगों को सक्षम बनाता है। प्रयोगशालाओं को विभिन्न श्रेणियों के उपकरणों की मेजबानी करने के लिए डिज़ाइन किया गया है, जैसे इंटरनेट ऑफ थिंग्स, ड्रोन और ऑटोनोमस कारों, दूरसंचार उपकरण, चिकित्सा उपकरण, मोटर वाहन उपकरण, आईटी उपकरण से जुड़ी वस्तुएं और परीक्षण व माप के लिए पूरी तरह से स्वचालित है। डीईआरसी विनिर्देशों पर एक अद्वितीय लौ-नॉइज़ उत्सर्जन प्रयोगशाला बनाई गई है, जो इलेक्ट्रॉनिक प्रणालियों द्वारा उत्सर्जित बहुत कम शोर के अध्ययन की अनुमति देती है। इलेक्ट्रोमैग्नेटिक कम्पेटिबिलिटी या ईएमसी, विभिन्न इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को अनुमति देता है, जो आपसी हस्तक्षेप के बिना संचालित करने के लिए एक-दूसरे के पास होते हैं, जिन्हें इलेक्ट्रोमैग्नेटिक इंटरफेरेंस या ईएमआई के रूप में जाना जाता है। एडवांस्ड टेक्नोलॉजी रिसर्च काउंसिल (एटीआरसी) के महासचिव फैसल अल बनाई ने कहा, "इन प्रयोगशालाओं का शुभारंभ अरब दुनिया में पहली और सबसे बड़ी हैं, को उद्योग मंत्रालय और उन्नत प्रौद्योगिकी मंत्रालय 'ऑपरेशन 300बीएन' के साथ संरेखित किया गया है।"

डीईआरसी उच्च ऊर्जा भौतिकी और विभिन्न सामग्रियों, प्रणालियों और वातावरणों पर उच्च तीव्रता वाले क्षेत्रों के प्रभावों के लिए अग्रणी अनुसंधान कर रहा है। सेंटर विभिन्न क्षेत्रों में समाज को लाभ पहुंचाने वाले व्यावहारिक समाधानों की खोज के लिए विज्ञान में अपनी अत्याधुनिक स्थिति का उपयोग करने के लिए प्रतिबद्ध है। अनुवादः एस कुमार.

https://www.wam.ae/en/details/1395302932040

WAM/Hindi