गुरुवार 09 दिसंबर 2021 - 5:13:46 एएम

यूएई ने 33वें मध्य पूर्व और उत्तरी अफ्रीका वित्तीय कार्रवाई टास्क फोर्स पूर्ण बैठक में भाग लिया


अबू धाबी, 23 नवंबर, 2021 (डब्ल्यूएएम) -- यूएई ने काहिरा में 16-17 नवंबर 2021 को आयोजित 33वें मिडिल ईस्ट एंड नॉर्थ अफ्रीका फाइनेंशियल एक्शन टास्क फाॅर्स (एमईएनएएफएटीएफ) प्लेनरी मीटिंग में भाग लिया और साथ ही पूर्ण सत्र तक चलने वाले एमईएनएएफएटीएफ वर्किंग ग्रुप सत्रों में भाग लिया। प्लेनरी ने विशेष रूप से फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स की 40 सिफारिशों और 11 तत्काल परिणामों को लागू करने के बारे में मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकवादी वित्तपोषण से निपटने के लिए क्षेत्र में चल रहे प्रयासों की विस्तृत श्रृंखला को संबोधित किया। यूएई ने पारस्परिक मूल्यांकन रिपोर्ट की सिफारिशों को संबोधित करने में अपने अनुभव के बारे में एमईएनएएफएटीएफ सदस्यों को भी जानकारी दी क्योंकि इस अनुभव ने प्रदर्शित किया कि उच्चतम स्तरों पर प्रतिबद्धता, राजनीतिक सहयोग पर आधारित एक एकीकृत पद्धति और सभी संबंधित पक्षों के बीच साझेदारी एएमएल/सीएफटी फाइल में प्रगति हासिल करने की कुंजी है। इसमें एंटी-मनी लॉन्ड्रिंग (एएमएल) और काउंटर-टेररिज्म फाइनेंसिंग (सीटीएफ) के कार्यकारी कार्यालय द्वारा राष्ट्रीय कार्य योजना और एएमएल/सीएफटी के लिए राष्ट्रीय रणनीति में निर्धारित आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए मुख्य राष्ट्रीय समन्वय निकाय के रूप में यूएई सरकारी एजेंसियों के काम को आगे बढ़ाना शामिल था। इसका उद्देश्य इस संबंध में प्रयासों को एकजुट करना और सभी प्रासंगिक अंतरराष्ट्रीय मानकों, कानूनों और सम्मेलनों के अनुरूप मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकवादी वित्तपोषण से निपटने के लिए एक व्यापक रणनीति तैयार करना है। इसके अलावा मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकवाद व अवैध संगठनों के वित्तपोषण के लिए राष्ट्रीय समिति की उप-समितियों का पुनर्गठन और एएमएल/सीटीएफ के कार्यकारी कार्यालय की अध्यक्षता में एक सार्वजनिक-निजी भागीदारी समिति के शुभारंभ के माध्यम से समिति की प्रभावशीलता को बढ़ाने के लिए नई समितियां बनाना, जिसमें अब 17 सरकारी एजेंसियों के सदस्य और निजी क्षेत्र की 22 एजेंसियां शामिल हैं। यह गतिशील गठबंधन मध्य पूर्व में अपनी तरह का पहला, वित्तीय अनुपालन प्राप्त करने के लिए एक स्थायी प्रणाली और लचीली दीर्घकालिक प्रतिक्रिया के निर्माण में निजी क्षेत्र की आवश्यक भूमिका में यूएई के विश्वास को दर्शाता है। इसने यूएई के नियामक ढांचे में वर्चुअल संपत्तियों के जिम्मेदार समावेश सहित नई तकनीकों और व्यावसायिक प्रथाओं से जुड़े जोखिमों को कम करने के लिए यूएई द्वारा उठाए गए कदमों पर भी चर्चा की। यूएई ने ऐसी गतिविधियों की प्रभावी निगरानी के लिए नियम और मार्गदर्शन पेश किया है और यह सुनिश्चित करता है कि संबंधित फर्मों के पास यूएई के नियामक ढांचे की निगरानी और अनुपालन करने के लिए नियंत्रण है। यूएई ने उन्हें विदेश मंत्रालय और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग मंत्रालय के भीतर वित्तीय अनुपालन निगरानी अनुभाग के बारे में जानकारी दी, जिसने अंतरराष्ट्रीय साझेदारों के साथ रणनीतिक चैनलों के माध्यम से ज्ञान और अनुभव का आदान-प्रदान करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय सहयोग और प्लेटफॉर्म के निर्माण के लिए यूएई के प्रयासों का सहयोग करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। वित्तीय अनुपालन निगरानी अनुभाग की सबसे महत्वपूर्ण उपलब्धियों में से एक एएमएल/सीएफटी पर यूएई के विशेषज्ञ समूह का निर्माण है, जिसका नेतृत्व राज्य मंत्री अहमद अल सईघ और यूएई के सेंट्रल बैंक के गवर्नर खालिद बलामा अल तमीमी कर रहे हैं। विशेषज्ञ समूह में विभिन्न राष्ट्रीय संस्थाओं के प्रमुख प्रतिनिधि शामिल हैं, जिन्होंने आज तक समकक्ष देशों के विशेषज्ञों के साथ 30 बैठकें की हैं। उन्होंने विशेष रूप से व्यापार-आधारित मनी लॉन्ड्रिंग का मुकाबला करने, डेटा विश्लेषण के लिए उन्नत तकनीकों के माध्यम से जांच को मजबूत करने और हथियारों के प्रसार का मुकाबला करने के संबंध में बाहरी भागीदारों के अनुभवों से बहुत लाभ व्यक्त किया। इन प्रयासों के परिणामस्वरूप यूएई और ब्रिटेन के बीच सितंबर 2021 में अवैध वित्तीय प्रवाह का मुकाबला करने के लिए एक ऐतिहासिक और अपनी तरह की पहली साझेदारी शुरू हुई। यूएई और यूरोपीय संघ के बीच स्ट्रक्चरल डायलॉग भी जुलाई 2020 में स्थापित किया गया था और अब तक तीन बैठकें कर चुका है। पूर्ण सत्र के दौरान, यूएई ने एमईएनएएफएटीएफ के पर्यवेक्षक बनने के लिए रूसी संघ की उम्मीदवारी के लिए अपना सहयोग व्यक्त किया और मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकवादी वित्तपोषण का मुकाबला करने के क्षेत्र में विशाल और सफल रूसी अनुभव और विशेषज्ञता से लाभ उठाने के लिए एमईएनएएफएटीएफ की अपनी आकांक्षा पर बल दिया। एंटी-मनी लॉन्ड्रिंग और काउंटर-टेररिज्म फाइनेंसिंग के कार्यकारी कार्यालय के महानिदेशक हामिद अल ज़ाबी ने कहा, "जून में 32वें प्लेनरी में एमईएनएएफएटीएफ ने मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकवादी वित्तपोषण से निपटने के लिए तीन महत्वपूर्ण सिफारिशों में यूएई के तकनीकी अनुपालन मूल्यांकन को उठाया। अब 33वें प्लेनरी ने यूएई द्वारा की जा रही आगे की प्रगति पर एमईएनएएफएटीएफ को अपडेट करने का एक स्वागत योग्य अवसर प्रदान किया। अनुवादः एस कुमार.

http://wam.ae/en/details/1395302995760

WAM/Hindi